Sunday, October 30, 2011

Foreign Police: London: क्या-क्या नहीं करना पड़ता है पुलिस को..अब देखो इन भाई साहब को...

लंदन। ब्रिटेन के नागरिक ने आपातकालीन सेवा 999 पर फोन करके कहा कि उसके घर के ऊपर उड़न तश्तरी घूम रही है। यद्यपि बाद में उसने कहा कि 'रहस्यमय वस्तु' चंद्रमा है। समाचार पत्र 'द सन' के मुताबिक भयभीत अवस्था में व्यक्ति ने बताया कि उस वस्तु से धधकता हुआ प्रकाश आ रहा था।
कुछ ही समय बाद फोन करने वाले शख्स ने दोबारा फोन करके कहा कि उड़नतश्तरी चांद में बदल गई है। इस फोन पर कार्रवाई करने वाली हर्टफोर्डशायर पुलिस ने लोगों को आपातकालीन सेवा बाधित न करने की अपील की। प्रारम्भ में फोन को गंभीरता से लिया गया था। पुलिस बल के संचार कक्ष के सहायक प्रबंधक जैसन बैक्सटर ने कहा कि हो सकता है कि व्यक्ति ने किसी दुर्भावना से फोन नहीं किया हो, लेकिन इस फोन से पुलिस का कीमती समय एवं संसाधन ऐसे काम के लिए खर्च हुआ जो आपातकालीन नहीं था। उन्होंने कहा कि मैं लोगों से कहूंगा कि 999 पर फोन करने से पहले यह देख लें कि क्या वाकई यह मामला पुलिस का है? पुलिस अधिकारी ने चेतावनी दी कि अगर कोई मजे के लिए फोन कर रहा है तो उसे दंडात्मक कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है।

Police Recruitment: Air India: अब एयर इंडिया में करें पुलिस की नौकरी, फिर नहीं आएगा ऐसा चांस..

AIR INDIA AIR TRANSPORT SERVICES LIMITED (A WHOLLY OWNED SUBSIDIARY OF AIR INDIA LTD) Air India Air Transport Services Limited (AIATSL) wishes to engage Indian nationals, at the following stations who meet with the requirements specified herein, for ground duties at Airport, on a fixed-term contract, for a period of three years, for the post of Security Agents as indicated below and to maintain a waitlist. Security Agents - Chennai – 110, Trichy – 03, Madurai – 02 Coimbatore-06 Trivandrum – 88 Calicut – 29 Cochin-29 Hyderabad – 34, Vishkapatnam- 02 Tirupathi- 03 Bangalore – 03, Mangalore – 09 At present vacancies are available only for the stations mentioned above.
Interested candidates are required to WALK-IN in person, to the venue, on the date and time for the respective category as given below, along with the Application Form duly filled in and requisite Fee and documents as indicated at Sr.No. 5.1 in HOW TO APPLY : 2.1 SECURITY AGENT: a. Qualification i) Graduate in any discipline (minimum three years duration) from a recognized University OR Ex-Servicemen who have acquired the Qualification equivalent to Graduation in the Armed Forces and have a service record of minimum 15 years in the Armed Forces, not below the rank of Junior Commissioned Officer or its equivalent in the other wings of Services, who had been discharged from service during the preceding two years OR 5 years in the Armed Forces, not below the rank of Captain or its equivalent in the other wings of Services, who had been discharged from service during the preceding two years.ii)) Height : Not below 165 Cms. for male and 153 Cms. for female candidates.(Relaxation in height of 2.5 cms to SC/ST Candidates and candidates from North Eastern Region ) iii) Preferable : i) NCC ‘C’ Certificate ii) One year experience in the related area. iii) Diploma / Certificate in Computer Application b) Emoluments YEAR TOTAL EMOLUMENT 1 ST Contract 1 st 2 nd (Rs.1000 for AVSEC & Rs1500 for X-BIS) 3 rd (Rs.1000 for AVSEC & Rs.1500 for X-BIS) 12,000 14,500 14,500
SELECTION PROCEDURE : WALK-IN DATES : (i) Trivandrum 19 & 20 April (Tuesday & Wednesday) (ii) Hyderabad 26 & 27 April (Tuesday & Wednesday) (iii) Mangalore 03 & 04 May (Tuesday & Wednesday) (iv) Chennai 10 & 11 May (Tuesday & Wednesday) Walk-In Registration Time :07.00 am to 10.00 am only (i) Applicants walking in, will have to undergo a Physical Endurance Test (PET) running of 100 metres or 1000 metres in 16 seconds or 4.5 minutes respectively, as opted by the candidates, on the same day / following day(s). A relaxation of 06 seconds is given to the female candidates for running 100 metres in Physical Endurance Test. In their own interest, candidates should come prepared for the Physical Endurance Test with a tracksuit /pair of shorts and running shoes, etc. ) (ii) Those who qualify in the PET will have to appear for Report Writing on the same day / following day(s). Those who qualify in the Report Writing will have to appear for Personal Interview(s) on the same day / following day(s).(iii) Note : The Application Form of the candidate, after submission of the requisite Fee, wherever applicable, would be scrutinized and prima-facie eligible candidates will be allotted a slot either on the same day / following day (s) for PET/RWT/PI i.e. Only if found ELIGIBLE on preliminary scrutiny, the candidates will be allowed to appear for PET/RWT/ Personal Interview. 3 Language Proficiency : Should be fluent in English & local language. Knowledge of Hindi will be preferred. 4 UPPER AGE LIMIT: (As on 1st April 2011) 4.1 General - 28 years, OBC - 31 Years, SC/ST - 33 Years. Relaxation in Age for Ex-Servicemen as per Government guidelines. 4.2 Relaxation of age limit : The age relaxation for experienced and trained staff will be as under : Sr No Qualification Previous Experience Relaxation for age 01 Basic AVSEC Certification 3-5 years 5 years 02 Basic AVSEC + XBIS Certification or online Certification 5 years 7 years 5. How to apply : 5.1 Applicants meeting with the eligibility criteria mentioned in this advertisement, as on 1ST April 2011, are required to WALK-IN to the venue given below, on the date and time as indicated above, along with the Application Form in the specified format, duly filled in Hindi or English, and requisite documents as indicated in Para 5.3 below, along with Application Fee of Rs.300/- (Rupees Three Hundred Only) by means of an A/c Payee Demand Draft in favour of “Air India Air Transport Services Ltd.”, payable at Mumbai, which is not refundable. No fees to be paid by Ex-servicemen / applicants belonging to SC/ST communities. Please mention your Full Name on the reverse of the Demand Draft. VENUE FOR SECURITY AGENTS TRIVANDRUM, COCHIN & CALICUT CHANDRASEKHARAN NAIR STADIUM PALAYAM, TRIVANDRUM – 695033 Contact NO :Tel No 0471-2310310 HYDERABAD, VISHAKAPATNAM & TIRUPATHI RAILWAYS POST COMPLEX, SOUTH CENTRAL RAILWAY ASSOCIATION, BEHIND RAIL NILAYAM, SECUNDRABAD. Contact No 040-23430333 MANGALORE & BANGALORE ST ALOYSIUS COLLEGE, CENTENARY GROUNDS, LIGHT HOUSE HILL ROAD, MANGALORE 575001 Contact No 0824- 2451045 CHENNAI, TRICHY, MADURAI & COIMBATORE AIR INDIA AND (INDIAN AIRLINES) SPORTS STADIUM AND HOUSING COLONY GST ROAD, MEENAMBAKKAM, NEAR PALAVANTHAANGAL RAILWAY STATION, CHENNAI 600 027. Contact No 044- 22561553 (contact telephone numbers are given only for route direction). 5.2 A recent ( not more than 3 months old ) coloured passport size photograph of the full face ( front view ) should be pasted neatly in the space provided in the application form. 5.3 Self-attested copies of the supportive documents in respect of Item Nos. 2, 9, 10, 11, 12, 13 & 14, of the Application Form must be submitted along with the application. Original Certificates should not be submitted along with the application, but should be brought for verification. The Company is not responsible for returning any original copy/ies of Certificates /Testimonials submitted with the application. Attested photocopy of the Caste Certificate should also be submitted in case of SC/ST candidates. 5.4 Candidates belonging to OBC category must submit a duly attested photocopy of current financial year certificate in the format as prescribed by Government of India and issued by the Competent Authority. The certificate, inter-alia, must specifically state that the candidate does not belong to socially advanced sections excluded from the benefits of reservation for OBC in civil posts and services, under the Government of India. The Certificate should also contain the „Creamy Layer‟ Exclusion clause. The Certificate produced by the candidates of OBC community should be as per the Central List of OBCs published by the Government of India and not as per State list 5.5 Applicants working in Government / Semi-Government / Public Sector Undertakings or autonomous bodies, must walk-in with the completed Application Form routed through proper channel or along with “No Objection Certificate” from their present employer. 6 General Conditions : 6.1 The short listed candidates will be considered for engagement on a fixed-term Contract basis, subject to their Medical fitness, prescribed for the position. 6.2 Candidates will have to bear the cost of the Pre-Employment Medical Examination(s), which could be between Rs.500/- and Rs.1000/. Any additional tests, if required, the additional cost thereof will also have to be borne by the candidates. 6.3 Period of Contract : Fixed Term Contract for a period of three years. This Contract could also be terminated earlier at the discretion of the Management during the tenure of contract, and/or in the event of unsatisfactory performance. The job is transferable to any station in India. 6.4 Emoluments : The job carries an all-inclusive package as indicated above. 6.5 Relaxation of height requirement up to 2.54 cms ( 1” ) will be considered for Gorkhas, Garhwalis and those hailing from NorthEast States & hilly areas. This relaxation will be granted to candidates who produce a Certificate of Domicile of these areas. 6.6 Consideration of SC/ST/OBC candidates will be as per Government Directives on reservation of posts. 6.7 SC/ST candidates called for PET/Report writing/ Personal Interview (s), residing beyond 80 kms. from the Test Center, and not employed in any Government / Semi-Government / Public Sector Undertaking or Autonomous Bodies, will be re-imbursed second class to & fro rail / bus fare by the shortest route as per rules, on production of evidence to that effect. 6.8 Applications which are unsigned / incomplete / mutilated / received after the prescribed Walk-In date & Time / not in person will be rejected. Applications sent by email / post will not be considered. 6.9 The applicant / candidates must ensure that they fulfil all the eligibility criteria, as on 1st April 2011, and that the particulars furnished by them in the Application are correct in all respects. At any stage of the Selection Process, if the particulars provided by the candidates in the Application or testimonials supplied are found incorrect / false, or not meeting with the eligibility requirements prescribed for the post, the candidature is liable to be rejected and, if appointed, services terminated, without giving any notice or reasons therefor. 6.10 Any canvassing by or on behalf of the candidate or bringing political or other outside influence, with regard to their engagement / selection shall be considered a DISQUALIFICATION. 6.11 Blank Application format is given below. **************************************************************************ADVT : April 2011 For Office Use Only Remarks : i)Advt./Emp.Exch ROLL NO : _____________________ ___________________ Authorised signatory FORMAT OF APPLICATION To, Air India Air Transport Services Limited First Floor, Transport Workshop Bldg Air India GSD Complex, Sahar, Andheri-East Mumbai-400 099. POSITION APPLIED FOR : _____________________ STATION :CHENNAI WHETHER THRU EMPLOYMENT EXCHANGE (IF YES) : EMPLOYMENT REGISTRATION NO. ________________ (ALSO ATTACH COPY OF REGISTRATION CARD) 1. Full Name : ( In BLOCK letters ) ______________________________________________________________ First Middle Surname 1a Father‟s Name : _______________________________________________ 2. Date of Birth : (DD / MM / YYYY) ___________________________ 3. Place and State of Birth : ______________________________________ 4. Mailing Address : _____________________________________________ _____________________________________________ _________________________ Pin Code _________ a) Telephone No. : Residence (with STD Code): _____________________________ b) Mobile : ___________________c)Email( if any) :_____________________ 5. Gender : Male / Female Paste Recent colour Photograph & sign across6. Marital Status : Mark ‘X’ in appropriate box. Unmarried Married Divorcee Widow (er) Separated 7. Nationality : _________________8.Religion :________________ 9. Height : (Bare feet in cms.) ___________(Attach Registered Medical Practitioner’s Certificate) 10. a) Whether SC / ST / OBC / GENERAL :( ALSO MENTION SUB-CASTE) __________________________ SC ST OBC General (Indicate Category to which you belong by marking ‘X’ in the appropriate box.) If SC/ST – attach copy of the Caste Certificate. If OBC, furnish current Certificate including the “Non-Creamy layer clause”. OBC community should be as per the Central List of OBCs published by the Government of India b) Whether Ex-Serviceman : Yes / No If „Yes‟, furnish details of service, position held, date of release, details of experience after release (attach copies of relevant documents) c)Whether from Police Services : Yes / No (Furnish details) d) Whether working in any Govt : Yes / No Semi-Govt. / Public Sector Undertaking or autonomous body If “Yes”, enclose “No Objection Certificate” 11. Educational Qualifications : (Matriculation / SSC onwards) Examination(s) Passed (Specify Degree / Diploma / Course) Name of the University / Institution Date, Month & Year of Passing Duration Percentage of marks (Class / Division) 10th (SSC) 12 th (HSC or PreDegree) 1 st Year ___________ 2nd Year_________ 3rd Year _________ Any other (specify ) _______________________ _______________________ 12. Fluency in languages : Mark ‘X’ in appropriate column. Languages Read Speak Write Remarks* a) English b) Hindi c) Local (Specify) d) Mother Tongue (Specify) e) Others (Specify) * Indicate whether any Certificate / Language Course done and the duration of the course, along with a copy of such Certificate. ) 13. Work Experience (if any) : Organisation Post Held Period of Service Nature of Job From To 14. Particulars of Demand Draft ( in favour of Air India Air Transport Services Ltd. payable at MUMBAI ) : 15. Relatives working in Air India Charters Ltd / Air India Air Transport Services Ltd / Hotel Corporation of India Ltd /Air India Name Designation Company Relationship 16. Declaration : I hereby certify that the foregoing information is correct to the best of my knowledge and belief. I have not suppressed any material fact or factual information in the above statement. I am aware that in case I have given wrong information or suppressed any material fact or factual information, or I do not fulfill the eligibility criteria according to the advertisement, then my candidature will be rejected / services terminated without giving any notice or reasons therefor. Place : _____________________ _______________________ Date : ______________________ (Signature of applicant) Name & Address of the Issuing Bank & Branch Date of Issue Demand Draft No. AmountList of following Documents (copy) to be attached with the Application : (Please also bring all ORIGINALS for verification only) i) Application Fee, wherever applicable ii) School Leaving Certificate or SSC Passing Certificate iii) Matriculation Mark-sheet iv) 12th Std / Pre-Degree Mark-sheet and Passing Certificate v) 1st Year Graduation Mark-sheet vi) 2nd Year Graduation Mark-sheet vii) 3rd Year Graduation Mark-sheet viii) Degree Certificate or Provisional Degree Certificate ix) Any other Certificate (IATA / Language, etc.) x) Doctors’ Certificate (in original) for Height xi) Caste Certificate in case of SC / ST /OBC candidates xii) Discharge Certificate in case of Ex-Servicemen xiii) Experience Certificate (s) wherever applicable xiv) Domicile Certificate, wherever applicable

Police Games: Delhi Police: दिल्ली पुलिस ने दिल्ली में क्रिकेट 20-20 के एक नये टूर्नामेंट यूनिटी कप का शुभारंभ किया..

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली में क्रिकेट 20-20 के एक नये टूर्नामेंट यूनिटी कप का शुभारंभ किया। इस टूर्नामेंट में 16 कॉरपोरेट कम्पनियां भाग ले रही हैं। शनिवार से शुरू हुआ ये टूर्नामेंट 25 दिसम्बर तक जारी रहेगा। इस टूर्नामेंट का मीडिया पार्टनर है पी7 न्यूज। दिल्ली पुलिस का यूनिटी कप 20-20 टूर्नामेंट हर शनिवार और रविवार के अलावा हर सरकारी छुट्टी के मौके पर दिल्ली पुलिस के परेड ग्राउंड पर मैच खेला जाएगा।
इस मौके पर दिल्ली एंड डिस्ट्रीक्ट क्रिकेट एसोसियेशन के वाइस प्रेसिडेंट चेतन चौहान और स्पोर्ट्स सचिव सुनील देव भी मौजूद थे। यूनिटी कप के आयोजक दिल्ली पुलिस की ओर से स्पेशल कमिश्नर दीपक मिश्रा ने इस टूर्नामेंट का मकसद नये खिलाडियों का उत्साहवर्धन बताया तो वहीं सुनील देव ने पी-7 न्यूज़ की खेलों के प्रोत्साहन को लेकर की जा रही कोशिशों की तारीफ की। इस टूर्नामेंट में स्टालिन ग्रुप, रेड एफएम, जागरण सिटी, गोल्डी मसाले, टाइम्स रियल्टर्स समेत कुल 16 टीमें भाग ले रहीं हैं, जिन्हें 4 ग्रुप में बांटा गया है। पहला मैच टाइम्स रियैल्टर्स और स्टालिन ग्रुप के बीच हुआ जिसे टाइम्स रियैल्टर्स ने 15 रन से जीत लिया। आखिर में विजेता टीम को पुरस्कार से नवाजा गया।

Friday, October 28, 2011

Bihar Police: Bijli Thana: बिजली चोरी रोकने के लिए विशेष पुलिस थाना बनाने का एक प्रस्ताव, पटना में खुलेगा पहला बिजली थाना..

पटना। बिहार राज्य विद्युत बोर्ड ने राज्य में बिजली चोरी रोकने के लिए विशेष पुलिस थाना बनाने का एक प्रस्ताव सरकार को भेजा है। यह थाना सिर्फ बिजली चोरी रोकने के मामलों को ही देखेगा। राज्य विद्युत बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में विशेष पुलिस थाना बनाने का निर्णय विद्युत बोर्ड के अधिकारियों की एक बैठक में लिया गया। जल्द ही सरकार से इस मामले पर विचार-विमर्श किया जाएगा।
बोर्ड का मानना है कि राज्य में बिजली की चोरी एक बड़ी समस्या है, जिसका खामियाजा केवल बोर्ड ही नहीं बल्कि वैध बिजली उपभोक्ता भी भुगत रहे हैं। बिजली चोरी रोकने के लिए बोर्ड हर कदम उठा रहा है। इस बीच राज्य विद्युत बोर्ड के अध्यक्ष प़ी क़े राय भी राज्य में बिजली चोरी को एक प्रमुख समस्या मानते हैं। बोर्ड पिछले एक वर्ष में बिजली चोरी में लिप्त 48 अभियंताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवा चुका है। बिजली चोरी रोकने के लिए विशेष थाना खोला जाएगा। पहला थाना पटना में खोला जाएगा।

Thursday, October 27, 2011

Police Recruitment: Delhi Police: RECRUITMENT OF TEMPORARY CONSTABLE (EXECUTIVE)- MALE IN DELHI POLICE-2011

Application are invited from Indian Nationals fill up 2622 vacant post of constable (Executive)-male in Delhi Police under the following categories in the pay scale of PB-1 Rs.5200-20200/- + Grade pay Rs. 2000/- and other allowances as admissible. Recruitment will be held at Delhi for which candidates from all parts of the country fulfilling eligibility conditions are eligible to apply:-
Name of Post No. of Vacancies UNRESERVED OBC SC ST Total Constable (Exe.)-Male 1311 708 402 201 2622 10% vacancies are reserved for ex-Serviceman in each categories as per rules. Note:- Out of 10% quota meant for Ex-Serviceman, 50% of such quota will be reserved for following categories of ex-serviceman (a) Having served in Special forces/NSG (Special Action Group) or ) (b) Having received QI Qualification Instructors" grading in the commando Course or (c) Officers from the Navy/Air Force who have worked in specialized Commando type units. Note:- The Personal of central Para Military Forces are not eligible to apply under Ex-Serviceman category. 2. CLOSING DATE: The last date of receipt of application form will be 25.11.2011 Application are received thereafter will not be entertained. 3. ELIGIBILITY CONDITIONS:- (a) NATIONALITY : Application should be a bonafide citizen of INDIA. (b) Age, Educational Qualification and Physical standard:- Category of candidates Age (as on 01.07.2011) Educational Qualification Physical Standard Height (in cms) Chest (in cms) minimum Unexpnded Expanded Un- Reserved 18 to 21 10+2(Senior Secondary ) pass from a recognized Board 170 81 85 OBC 18 to 24 -do- 170 81 85 SC 18 to 26 -do- 170 81 85 ST 18 to 26 -do- 165 76 80 Sportman(Un-reserved) 18 to 26 -do- 170 81 75 Sportman(OBC) 18 to 26 -do- 170 81 85 Sportman(SC) 18 to 26 -do- 170 81 85 Sportman(ST) 18 to 26 -do- 165 76 80 Departmental (Unreseved) Upto 40 Year 11th pass 170 81 85 Departmental(OBC) Upto 43 year -do- 170 81 85 Departmental(SC) Upto 45 year -do- 170 81 85 Departmental(ST) Upto 45 Year -do- 165 76 80 Ex-Serviceman (Unreserved) As per rules. 10+2(Senior Secondary ) pass from a recognized Board 170 81 85 Ex-Serviceman (OBC) As per rules -do- 170 81 85 Ex-Serviceman (SC) As per rules -do- 170 81 85 Ex-Serviceman (ST) As per rules -do- 165 76 80 Sons of serving deceased retired Police personnel/ Multi tasking staff (formerly Group ’D’ Employees) of Delhi police 18 to 25 Year 11th pass 165 76 80 Residents of hill areas i.e Garhwalis, Kumaonis, gorkhas, Dogras , maratha’s And candidates belonging to state of Sikkim, Nagaland, Arunachal Pradesh, Manipur, Tripura, Mizoram, Moghalaya, Assam, Himachal Pradesh, Kashmir, and Leh & Ladakh regions of J&K As per their Own category 165 76 80 (C) ESSENTIAL REQUIREMENT As aspiring candidates shall possess a valid driving liences for LMV (Motor cycles and car) on the date of submission of application form. NOTE:- Age from 18 to 21 years as on 01.07.2011 i.e thoes born not earlier than 02.07.1990 and not later than 01.07.1993 will be eligible. upper age limit is relaxable for SC/ST/OBC as per rules. Candidates seeking reserved benefits for SC/ST/OBC must ensure that they are entitles to such reservation as perelogibility prescribed in the Advertisement. they should also be in possession of the certificate in the prescribed Format support in their claim at the time submitting application form as per Annexure -"B" and "C". No other certificate will be accepted as sufficient proof. The relaxation under OBC categories is admissible for thoes castes Notified in the central List and the List issued by the govt. of NCT of Delhi. A' departmental candidates means bandsman, buglers, Mounted costables, drivers, despatch, riders. dog handlers etc.& Multi Tasking (formaly category 'D' employees) enlisted in Delhi Police with a minimum of 3 years continuous service and who otherwise fulfills all educational and other physical qualifications. the sportman of destiction who have represented a state at the national level and the country at the Intenational level in sport during preceding three years from the date of advertisement of vacancies. the sports certificate should have been issued in the poroforma attached at Annexure-D & E having photography of the candidate duly attested by the Secretary of the issuing State/ National Sports Federation. The issuing federation/Association conducing state/National champronship should be affiliated with State/indian Olympic Association.The Relaxation is admissible to the sportman who participated in Althetics, Swimming,Shooting, Boxing, Cycling,Wrestling, Gymnastics, judo, Weightlifting, Karate, Equestrian, Archery, Table Tennis, Tennis, Badminton, Raithlon,Vollyball, Kho-kho, Basketball,football, Kabaddi(circles Kabaddi/beach Kabaddi), Hockey, Cricket. Age concession to ex-Serviceman will be allowed in accordance with the orders issued by the government from time to time. they will be permitted to deduct the period served in the armed forces from their actual age.The resultant age, so derived, should not exceed the prescribed age limit by more than three years. for all candidates minimum chest expansion has to be 4 cms, failing which he be disqualified. Relaxation in height and chest (resident of hill areas) as mentioned above will be permissible only on production of certificate at the time of Physical Measurement Test, in the proforma as presecribed in Annexure-F from the competant athorities. i.e. DC/DM/SDM or Tehsildar of the District where they ordinarity reside(s). Those candidates who are declared not qualified not qualified in physical Standards, i.e. height and chest. may prefer an appeal, if they so desire, to the appeliate authority present on the PE&MT ground, the decision of the appellate authority will be final and no further appeal or representation in this regard will be entained. The wards of serving, deceassed and retire police personnel including Multi Tasking Staff (formerly categories 'D' employees) of delhi police belonging to SC/ST/OBC/ Hill Area category 'D' employees) of Delhi Police. Wards of serving, deceased and retire police personnel including Multi Tasking Staff (formerly category 'D' employees) ofDelhi Police shall be required to produce certificate in the prescribed format issued by the DCP/Addl. DCP or ACP/ HQ of the District/Units where the police personnel including Multi Tasking Staff(formerly category 'D' employees) of Delhi Police served last (at the time of Physical Measurement Test.) as per proforma at Annexure-A. DEFINITION OF EX-SERVICEMAN:- The defination of ex-serviceman as defined in govt. of india. Ministry of personal,Public Grievances & Pensions, Department of personnel & Training, New Delhi's O.M. No. 36034/5/85-Estt. (SCT) dated 14-4-1987 is given as under "An ex-serviceman" means as person, who have served in rank whehter as a Combatant or non-combatant in the Regular Army, Navy and Airforce of the Indian Union and who retired from such service after erning his/her pension; or (i) whose discharge book has the endorsement of Ex-serviceman; or (ii) who has been released from such service on medical grounds attriburable to military service or circumstances beyond his control and awarded medical and other disabilities pension; or (iii) who has been released, otherwise than on his own requist, from such service as a results of reduction in establishment;or (iv) who have been released from such service after completing the specific period of engagements, otherwise than at his own request or by way of dismissal or discharge on account of misconduct or inefficiency, and has been given a gratuity; and including personnel of the Territorial Army of the following categories, namely:- a) Pension holders for continuous embodied service b) Persons with disabilities attributable to military service; and c) Gallantry award winners.The Territorial Army personnel will however be treared as ex-serviceman w.e.f. 15-11-86 Ex-Serviceman who are paid from the Central revenues are eligible to be re-enlisted as constables at the discretion of the appointing authority if their discharge certificate shows previous service as Good or of higher classification/grading provided that (a) they present themselves within two years of their previous discharge, (b) they conform to the educational standards laid down for recruits from open market, and quality such endurance/ efficiency tests as prescribed. (c) they are medically fit for police service according to standards prescribed for recruits. Ex- Serviceman who have already sacured employment under Cental Government in Group 'C' & 'D' posts on regular basis after availing of the benefits of reservation given to ex-Serviceman for their re-employment are NOT eligible for fee concession or for the age relaxation only.the period of "Cell up Service" of an Ex-Serviceman in the Armed forced shall also her treated as services rendered in the Armed forces for purpose of age relaxation. For any Serviceman of the three Armed forced of the Union to be treated as ex-serviceman for the purpose of securing the benefits of reservation, he must have already acquired, at the relavant time of submitting his application for the Post/Service, the status of ex-serviceman and or/is in a position to establish his acquired entitlement by documentary evidence from the competent authority that he would complete spedified term of engagement from the armed forces within the stipulated period of one year from the closing date of the application form. EXPLANATION :-The person serving in the Armed/Forces of the Union, who on retirement on service, would come under the categories of "Ex-serviceman" may be permitted to apply for re-employeement one year before the completion of the specified terms of engagement and avail themselves of all concessions available to Ex-Servicemen but shall not be permitted to leave the uniform until they complete the specified term of engagement in the Armed Forced of Union. Note: All such candidates who are serving in the armed forced and intend to apply under Ex-serviceman category will be required to Submit NOC from the Department which shall clearly mention their date of discharged from the armed forces. NOC having no mention of date of dischage form the armed forces will not be entertained and their Application forms will be rejected without assigning any further reason. 4. MEDICAL STANDARD:- i) The minimum distant vision should be 6/12 of two year (without glasses) and shall be free from colour blindness. ii) Candidates who have undergone Lasik surgery for improvement of their vision (Eye Sight) will be eligible if their vision (Eye Sight) is found normal after the conduct of the following Taste at the Govt. Hospita:- 1. Contract sensitivity. 2. Dim light vision (Mesopic vision) 3. Glare acuity iii) The Candidate must have knock kness. falt foot, varicoss vein, loss or deformity of fingures & chest and Joints, haluxvalgus, halux rigidus, squint in eyes, bow legs and other deformaly including loss of any part of body. iv) The candidate should be of sound state of health, free from defect, deformity or dlsease likely to interface with the efficent performance of the duties. No. relaxations allowed to any category of candidates on this count. 5. PHYSICAL ENDURANCE TEST (QUALIFYING) FOR ALL CANDIDATES INCLUDING EX-SERVICEMAN AND DEPARTMENTAL CANDIDATES(AGE-WISE) WILL BE AS UNDER :- Age Race 1600 mtrs Long Jump High Jump Upto 30 Year 6 Minutees 14 Feet 3’9” Above 30 Year to 40 Years 7 Minutees 13 Feet 3’6” Above 40 Years 8 Minutees 12 Feet 3’3” Note: i) Those who quality in the race will be eligible to appear in the long Jump and high jump. ii) There changes will be given to qualify in long and high jumps. iii) There shall be no appeal against disqualification in race, long jump & high jump. 6. CHECKING OF ORIGIONAL DOCUMENTS/CERTIFICATES FOR ELIGIBILITY CRITERIA. i) All the candidates, are required to bring their origional documents/certificates at the time of PE & MT, pertaining to age, educational, caste, hill areas, driving license, NOC/discharge certificate (in case of Ex-Serviceman),wards certificate issued to wards (sons/daughters) of Delhi Police personnel alongwith the attested photocopies of all the documents/certificates.

UP Police: CRPF constable commits suicide...

Muzaffarnagar, Oct 27 (PTI) Depressed over not getting leave on Diwali, a CRPF constable allegedly shot himself dead in Uttar Pradesh's Moradabad town, police said here today. Sohanvir Singh (35), a native of Basayach village, yesterday shot himself dead in Moradabad, where he is posted, they said, adding that he was depressed over not getting leave on Diwali.
In another incident at Greater Noida, a 30-year-old engineer of a private company allegedly committed suicide at his residence by hanging himself from a ceiling fan after his wife refused to accompany him to his native town Muzaffarnagar for Diwali celebrations, police said.

Police Recruitment: Delhi Police: दिल्ली पुलिस में होगी ढाई हजार से ज्यादा आरक्षकों की नियुक्ति..देखें विज्ञापन..

Police Recruitment: Delhi Police: Recruitment in Delhi Police 2011..

Vast career opportunities are available in Delhi Police at various levels. Some of the important recruitments are the following: i) Constable ii) Ministerial Cadre iii) Sub-Inspector iv) Assistant Commissioner of Police
Recruitment of Constables (Male & Female) in Delhi Police is done by a Recruitment Board appointed by Commissioner of Police. Candidates from all parts of country are eligible for recruitment. The vacancies are notified in the concerned Employment Exchange of Delhi and Central Employment Exchange on all India Basis. Besides, vacancies are also advertised in News Papers/Rozgar Samachar inviting application for open competition. The applicants are required to appear for Physical Examination, Written Test. Direct Recruitment to the Ministerial Cadre is made only in the rank of Head Constable (Ministerial) and of Stenographers in the rank of Assistant Sub-Inspector. Competitive examination for this purpose is held for which candidates from open competition as well as from the department are eligible. Vacancies are also advertised in News Papers/Rozgar Samachars. For Sub-Inspectors Delhi Police places advertisements from time to time. For Assistant Commissioner of Police the entire process is conducted and carried out by the Union Public Service Commission and candidates are selected through Civil Services Examination.

Wednesday, October 26, 2011

दीवाली पर चार महायोग एक साथ : हर तरफ बरसेगी सुख-समृद्धि..

सात साल बाद बुधवार को दीपावली के आने का संयोग भी बन रहा है। दिवाली पर एक साथ कई संयोग बनेंगे। ग्रह नक्षत्रों की चाल इस प्रकार बनी है कि दस साल बाद तुला राशि में चार ग्रहों का मिलन, चित्रा नक्षत्र और सात साल बाद बुधवार का विशेष संयोग रहेगा। चंद्रशेखर इंदोरिया ने बताया कि दिवाली पर सुबह 11 बजकर 16 मिनट पर चंद्रमा तुला राशि में प्रवेश करेगा। इस तरह तुला राशि में दीपावली पर सूर्य, बुध, शुक्र और चंद्रमा विचरण करेंगे। तुला में चतुग्र्रही योग के साथ जहां सूर्य का नीच भंग राजयोग बनेगा। वहीं तुला राशि का वृष राशि में चल रहे केतु से षड़ाष्टक योग भी बनेगा। तुला राशि में चार ग्रहों का योग 2004 को बना था। अब यह संयोग वर्ष 2014 में बनेगा।
हे! मां लक्ष्मी जन करे जयकार दीपकों से सजी पूजा की थाली इस बार भी सुख व समृद्धि लाएगी। यही है दीप पर्व की असली खुशी का अहसास जिसे बुधवार को महसूस करेंगे। ज्योतिषियों का मानना है कि इससे बरसात, फसल, व्यापार में सुख-समृद्धि होगी। मंगलवार को छोटी दीपावली मनाई गई। वेदाचार्य पं. वासुदेव शर्मा के अनुसार पूजन का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त शाम 7.01 बजे से 7.22 तक रहेगा। इस दौरान प्रदोष काल, स्थिर लग्न व कुंभ का नवमांश है। ये हैं पूजन के मुहूर्त गोधुली मुहूर्त : शाम 5.47 से 6.35 बजे तक वृष लग्न : 6.59 से 8.55 तक सिंह लग्न : रात्रि 1.25 बजे से 3.42 बजे तक शुभ का चौघड़िया : 7.29 से 9.01 बजे तक अमृत का चौघड़िया : 9.01 से 10.38 बजे तक चर का चौघड़िया : 10.38 से 12.15 बजे तक लाभ का चौघड़िया : रात्रि 3.23 से 5.00 बजे तक
खुशियों के लिए इनका रखें ध्यान दिवाली की खुशियों में अपने आस पड़ोस के माहौल और गतिविधियों पर भी नजर रखें। आतिशबाजी से कहीं आगजनी या किसी अन्य दुर्घटना में मदद का हाथ बढ़ाएं, ताकि किसी परिवार की खुशियों को बनाए रखने में अपना साथ दे सकें। इसके लिए जरूरी है कि आपके पास कंट्रोल रूम, अग्निशमन, अस्पताल, एम्बुलेंस जैसी महत्वपूर्ण सेवाओं के फोन नंबर हों।

दीवाली पूजन के लिए शुभ मुहूर्त...

दीवाली के शुभ अवसर पर आप सभी को पुलिस न्यूज परिवार की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं। इन्‍हीं शुभकामनाओं के साथ हम आपके लिये लाये हैं दीपावली पर लक्ष्‍मी पूजन के शुभ मुहूर्त। हर साल की तरह इस बार भी देश भर में दीपावली की धूम मची हुई है। सभी जगह तैयारियां जोरों पर हैं। बाजारों में खरीददारी चरम पर है और घरों में पूजा अर्चना धनतेरस के दिन से ही शुरू हो चुकी है। लखनऊ के पंडित आचार्य रामजी मिश्र के मुताबिक दीपावली के दिन लक्ष्‍मी माता घरों में विरण करती हैं। यदि आपका घर स्‍वच्‍छ और साफ रहता है तो लक्ष्‍मी आती हैं और साल भर तक धन की कमी नहीं होती। लक्ष्‍मी पूजन के दो समय होते हैं। पहला दोपहर में दूसरा शाम को। दोपहर में अधिकांश रूप से व्‍यापारी वर्ग ही पूजन करते हैं। वहीं घर पर शाम को पूजन होता है।
लक्ष्मी पूजन के समय दोपहर में: धनु लग्न मे सुबह 10:28 से 12:31 शुभ चौघडिया मे 10:42 से शुभ रहेगा। उसके बाद मीन लग्न दोपहर 3:42 से तथा मेष लग्न मे सायं 5:07 बजे से सुर्यास्त तक। रात्रि में: सायं 6:43 बजे से 8:39 बजे तक का मुहूर्त पूजन के लिए अच्‍छा है। इसमे लग्नेश का छठे भाव मे स्थिति तथा केतु की स्थिति नेष्ट है। अत: विद्वान जनो को इस वर्ष मिथुन लग्न 8:39 बजे से 22:52 बजे तक शुभ है। इसमे भी अमृत का चौघडिया 8:52 से 10:58 तक शुभ होगा। मध्‍य रात्रि में: यह समय विशेष पूजन के लिए महानिशीथ काल रात्रि 11:39 बजे से 2:31 बजे तक रहेगा।

Police News: HAPPY DIWALI..

सभी पुलिस मित्रों और उनके पूरे परिवार को...
............................शुभ दीवाली................

Friday, October 21, 2011

Mumbai Police: पुलिस वाले 'बिल्लियों' के पुराने आशिक हैं

सुनील मेहरोत्रा।। मुंबई नाबालिग लड़की से बलात्कार के मामले ने सीनियर इंस्पेक्टर अरुण बोरूडे को भले ही कुख्यात कर दिया हो, पर सच यह है कि पुलिस महकमे में कई ऐसे पुलिस अधिकारी अभी भी हैं, जो मुंबई के अलग-अलग कोठों में जाते हैं या अपरोक्ष रूप से देह व्यापार के रैकिट से जुडे़ हुए हैं।
करीब एक दशक पहले की बात है। एक दोपहर मुंबई पुलिस के आईजी रैंक के एक अधिकारी का एक सहायक इंस्पेक्टर के पास फोन आता है। यह आईजी इस सहायक इंस्पेक्टर से कहता है कि मेरे चेन्नै के एक दोस्त कल की फ्लाइट से मुंबई आ रहे हैं। उनके साथ दो खूबसूरत बिल्लियां (लड़कियां) भी आ रही हैं। तुम जरा उनके मुंबई के किसी होटेल में रुकने की व्यवस्था करवा दो। यह सहायक इंस्पेक्टर फौरन मुंबई के एक बड़े होटेल मालिक को फोन करता है और कहता है कि मेरे साहब के दोस्त और उनकी दो बिल्लियों के लिए जरा कमरा अच्छे से सजा कर रखना। यह जिस दौर की बात है, उस दौर में मुंबई में बाहर से जबरन लाए गए तीन डीसीपी की नियुक्तियां की गई थीं। सरकार ने यह नियुक्तियां तब के मुंबई के पुलिस कमिश्नर से सलाह लिए बिना कर दी थीं। इसलिए मुंबई के पुलिस कमिश्नर सरकार के इस फैसले से बेहद नाराज उठे। उनकी नाराजगी की मूल वजह यह भी थी कि उन तीन डीसीपी में से एक की एक बार बाला के साथ न्यूड फोटो उनके पास पहले से मौजूद थी। वह किसी भी हालत में इस चरित्रहीन डीसीपी को मुंबई में रखने के मूड में नहीं थे। कुछ साल पहले जोन-दो के एक डीसीपी की एक महिला के साथ की लव स्टोरी पुलिस सर्कल में काफी चर्चित रही थी। यह लव स्टोरी सुर्खियों में तब आई थी, जब इस डीसीपी ने अपनी इस प्रेमिका के कहने पर अपने केबिन में एक आदमी की जमकर पिटाई कर दी थी। मुंबई पुलिस में अभी भी एक ऐसा एसीपी है, जिसके बारे में एक महिला ने कुछ महीने पहले कहा था कि मैं इसके बच्चे की मां बननेवाली हूं। यह एसीपी दो-तीन सालों में रिटायर होने के करीब है। मुंबई में एक ऐसी महिला की भी काफी चर्चा रही, जो एक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट इंसपेक्टर की भी गर्लफ्रेंड रही और एक स्पेशल आईजी की भी। कुछ महीने पहले जे. रिबेरो ने जिन चार पुलिस अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे, उनमें से डीसीपी रैंक का एक अधिकारी इस बात के लिए काफी बदनाम था कि वह किसी मोर्चे में आई महिलाओं को भी हमेशा अश्लील नजरों से देखता था। इस डीसीपी ने एक बार अपने एक कॉन्स्टेबल को एक मोबाइल नंबर दिया और कहा कि तुम इस नंबर पर मिस कॉल मारो। बाद में उसने कॉन्स्टेबल से यह कहा कि जब मिस कॉल वाला तुम्हें कॉल करे, तो तुम उसके खिलाफ धमकाने का मामला दर्ज कर देना। लेकिन कॉन्स्टेबल ने उसका आदेश मानने से इनकार कर दिया था।

Maharastra Police: Pune: ऐशोआराम के लिए जिस्म बेचती हैं ये छात्राएं, पुणे पुलिस है परेशान..

पुणे (टीएनएन) : बड़े शहरों की चकाचौंध और आधुनिक जीवन शैली हमारी युवा पीढ़ी को किस गर्त में ले जा रही है , उसकी भयावहता का अंदाजा शायद अभी नहीं लगाया जा रहा है। शहरों में बड़े पैमाने पर कॉलेज जाने वाली लड़कियां बेहतर और आरामपरस्त जिंदगी जीने के लिए अपने शरीर को ही दांव पर लगा रही हैं।
पुणे में हर साल पुलिस वेश्यावृत्ति के लगभग 180 मामले दर्ज करती है , लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि पिछले 2 सालों में पुलिस ने प्रिवेंशन ऑफ इमॉरल ट्रैफिकिंग ऐक्ट , 1956 के तहत 4 छात्राओं को गिरफ्तार किया। इस साल 2 केस दर्ज करने वाले पुलिस इंस्पेक्टर भानु प्रताप बार्गे ने बताया कि फरवरी महीने में शहर के एक होटल में छापे के दौरान पकड़ी गई लड़कियों में एक लड़की मेडिकल स्टूडंट थी और वह किसी छोटे शहर से आई थी। इसी तरह मार्च में डाले गए छापे के दौरान पकड़ी गई लड़कियों में 2 कॉलेज जाने वाली लड़कियां थीं। यह वह आंकड़े हैं , जो रेकॉर्ड में दर्ज है , असलियत में यह संख्या इससे कई गुना ज्यादा है। पिछले साल भी पुलिस की सोशल सिक्युरिटी सेल ने सेक्स रैकेट चलाने वाली 2 लड़कियों को पकड़ा था , जो कॉलेज स्टूडंट थीं और उन्होंने यह काम महज इसलिए अपनाया था क्योंकि वह अच्छे कपड़ों , सेलफोन और महंगे होटलों में खाने की शौकीन थीं। बार्गे ने कहा कि कॉलेज स्टूडंट्स , लड़के और लड़कियां दोनों ही ऑरकुट कम्युनिटी के जरिए यह पेशा चलाते हैं। पुलिस भी ऐसी घटनाओं से स्तब्ध है। सूत्रों के मुताबिक , बहुत सारी लड़कियां अपने रूटीन खर्चों और महंगे शौक को पूरा करने के लिए ऐसे काम करने को तैयार हो जाती हैं।

Delhi Police: Traffic on facebook: आम लोगों के बीच बहुत हिट है दिल्ली ट्रैफिक पुलिस का facebook पेज, 84 हजार से ज्यादा लोग Like कर चुके हैं..

ट्रैफिक पुलिस का फेसबुक पेज आम लोगों के बीच काफी हिट है। कॉमनवेल्थ गेम्स के मद्देनजर आम लोगों को ट्रैफिक से जुड़ी जानकारियां देने के मकसद से पिछले साल 3 मई को यह पेज बनाया गया था और तब से लेकर अब तक 84000 से ज्यादा लोग इसे लाइक कर चुके हैं। इससे प्रेरणा लेकर बाद में कई अन्य राज्यों की ट्रैफिक पुलिस भी फेसबुक पर आई , लेकिन किसी को भी ऐसी सफलता नहीं मिली।
दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ही पहली बार फेसबुक पर अपलोड किए जाने वाले ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन संबंधी फोटो की जांच करके उनके आधार पर नियम तोड़ने वालों को चालान जारी करने का नया ट्रेंड शुरू किया। फेसबुक के जरिए ट्रैफिक पुलिसकर्मियों के करप्शन के भी कई मामले सामने आए और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की गई। ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक फेसबुक पेज पर अपलोड किए गए फोटोज के जरिए 15 अक्टूबर तक 16 से ज्यादा चालान किए जा चुके थे। इनमें 450 से ज्यादा चालान तो खुद पुलिसकर्मियों के थे। 36 हजार से ज्यादा शिकायतें भी फेसबुक पर आई थीं। फेसबुक के जरिए रेड लाइट जंपिंग , बिना हेलमेट ड्राइविंग , बिना हेलमेट पिलियन राइडर , ट्रिपल राइडिंग , डिफेक्टिव नंबर प्लेट , फैंसी नंबर प्लेट , अवैध लाल बत्ती लगी गाड़ी , आरसी वायलेशन , अवैध पार्किंग और टिंटेड ग्लास के मामलों में चालान किए गए। ट्रैफिक अधिकारियों के मुताबिक ऐसे मामलों में अपलोड किए गए फोटो ही अपने आप सबसे बड़े सबूत थे और जांच के दौरान भी शिकायतें सच पाई गईं , उसी के बाद कार्रवाई की गई। अभी तक एक भी शख्स ने यह कंप्लेंट नहीं की है कि उसके खिलाफ गलत कार्रवाई हुई। ज्यादातर चालानों में जुर्माने की राशि या तो ऑन स्पॉट ही वसूल ली गई या फिर कोर्ट का चालान काटा गया। विभिन्न इलाकों में ट्रैफिक जाम , जलभराव , खराब सड़क , खराब ट्रैफिक सिग्नल समेत कई अन्य स्थानीय समस्याओं और शिकायतों का भी फेसबुक पर अंबार लगा रहता है। लेकिन अब कोर्ट की टिप्पणी के बाद ट्रैफिक पुलिस के फेसबुक पेज के भविष्य पर सवालिया निशान लग गया है

Mumbai Police: क्राइम ब्रांच से परेशान युवक ने गृहमंत्री आर आर पाटील के दफ्तर के सामने आत्महत्या की कोशिश की..

मुंबई । पुलिस की अपराध शाखा के उत्पीडऩ से तंग आकर एक युवक ने सोमवार को गृहमंत्री आर. आर. पाटील के दफ्तर के बाहर नींद की गोलियां खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। विनोद सोनकांबले (28) का आरोप है कि अपराध शाखा के पुलिस अधिकारी पिछले कई दिनों से उसे परेशान करे रहे थे। डाक्टरों ने उसे फिलहाल खतरे से बाहर बताया है।
विनोद उपनगरीय मुंबई के घाटकोपर इलाके का रहने वाला है। उसका आरोप है कि अपराध शाखा के कुछ स्थानीय पुलिसपरेशान कर रहे हैं। कई बार गृहमंत्री को खत लिखकर मदद मांगी, लेकिन उसे जवाब नहीं मिला। इसलिए सोमवार को वह गृहमंत्री से मिलने मंत्रालय आया था। मंत्रालय पहुंचकर जब उसे पता चला कि गृहमंत्री दफ्तर में नहीं हैं, तो हताश होकर उसने वहीं पर नींद की गोलियां खा लीं। गृहमंत्री के दफ्तर के बाहर तैनात पुलिसकर्मियों ने जब उसकी हालत बिगड़ते देखी, तो उसे फौरन पास के जीटी अस्पताल में भर्ती कराया गया। विनोद को आईसीयू में रखा गया था। डाक्टरों ने उसे खतरे से बाहर बताया है।

Punjab Police: Chandigarh: दो साल पहले सब इंस्पेक्टर की गाड़ी से मोटरसाइकिल सवार युवक गगनदीप की मौत का सीन बुधवार को दोबारा दोहराया गया, सब इंसपेक्टर जसपाल भुल्लर ने रेड लाइट जंप पर मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। गगनदीप की मौत हो गई..

चंडीगढ़। दो साल पहले सब इंस्पेक्टर की गाड़ी से मोटरसाइकिल सवार युवक गगनदीप की मौत का सीन बुधवार को दोबारा दोहराया गया। हरियाणा पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने किरण सिनेमा के पास सेक्टर-22 के लाइट प्वाइंट के बीच मोटरसाइकिल गिरा दिया और सेंट्रो कार को लाइट प्वाइंट के पोल के पास खड़ा किया। मधुबन से आई सीएफएसएल की टीम ने लाइट प्वाइंट पर हुए सड़क हादसे का एक-एक इंच नापा। टीम ने सब इंस्पेक्टर जयपाल भुल्लर को बुलाया और उनकी छाती पर उनका नाम लिखकर पूरी घटना के बारे में पूछा। मौके पर हरियाणा क्राइम ब्रांच के आईजी राजपाल भी मौजूद थे।
इस दौरान टीम के सदस्य वीडियो रिकार्डिंग और फोटोग्राफी कर रहे थे। बाद में पुलिस ने मामले के जांच अधिकारी ओमप्रकाश को बुलाकर सारी घटना के बारे में पूछताछ की। पुलिस ने हादसे में मारे गए गगनदीप के दोस्त और घटना के चश्मदीद गवाह मनदीप सिंह से भी पूछताछ की। मनदीप ने क्राइम ब्रांच को बताया कि वह सेक्टर-22/23 लाइट प्वाइंट की तरफ से गगनदीप के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर आ रहा था। उनकी ग्रीन लाइट हुई और गगनदीप लाइट क्रास करने लगा। तभी दाईं तरफ से तेज रफ्तार सेंट्रो गाड़ी आई और उसने मोटरसाइकिल को जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही वह और गगनदीप सड़क पर गिर कर बेहोश हो गए। इसके अलावा मौके पर मौजूद सभी चश्मदीद गवाहों को घटनास्थल पर उसी-उसी स्थान पर खड़ा किया गया, जहां वे घटना के समय खड़े थे। एक अन्य चश्मदीद वकील अनिल टोनी ने मोटरसाइकिल और गाड़ी की लोकेशन के बारे में बताया। और फूट-फूट रो पड़े गगनदीप के माता-पिता जिस समय हरियाणा क्राइम ब्रांच की टीम सड़क हादसे का सीन दोहरा रही थी, गगनदीप के पिता बलविंदर सिंह और मां गुरविंदर कौर फूट-फूट कर रो रहे थे। गुरविदर कौर ने कहा कि सब इंस्पेक्टर ने रेड लाइट जंप की और बाद में बेटे पर ही मामला दर्ज कर दिया। चंडीगढ़ पुलिस ने पूरा मामला दबा दिया। पूर्व एसएसपी ने घटनास्थल की 16 फोटो ही छिपा ली थी। अब क्राइम ब्रांच ने सभी फोटो हासिल की। उन्होंने बताया कि चंडीगढ़ पुलिस के अफसर जसपाल भुल्लर को बचाने में लगे हुए हैं। गाड़ी बेच दी भुल्लर ने सब इंस्पेक्टर जसपाल भुल्लर ने हादसे के बाद गाड़ी बेच दी। उनकी गाड़ी सेक्टर-43 के चंद्रमोहन ने खरीदी। क्राइम ब्रांच की टीम ने उसी सेंट्रो गाड़ी को घटनास्थल पर मंगवाकर सीन दोहराया। हाजिरी भरने में लगे थे सब इंस्पेक्टर मामले की जांच कर रहे आईजी राजपाल सिंह जब बुधवार को मौके पर पहुंचे तो सब इंस्पेक्टर भुल्लर ने सलाम किया और उनके साथ आने लगे। आईजी ने उसी समय उन्हें एक तरफ होने को कहा। इससे पहले भुल्लर डीएसपी कमलदीप के साथ आगे आने लगे तो उन्होंने भी ऐसा ही व्यवहार किया। यह था मामला घटना 27 जून 2009 की है। फरीदकोट निवासी गगनदीप अपने दोस्त मनदीप के साथ सेक्टर-22 में रहता था। गगनदीप ने कनाडा जाना था। घटना वाले दिन वह मनदीप के साथ सेक्टर-22/23 लाइट प्वाइंट से किरण सिनेमा की तरफ जा रहा था। गगनदीप हरी बत्ती होने पर लाइट क्रास करने लगा तो सब इंसपेक्टर जसपाल भुल्लर ने रेड लाइट जंप पर मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। गगनदीप की मौत हो गई।

Punjab Police: Jalandhar:आरपीएफ ने सिटी रेलवे स्टेशन पर जहरखुरानी गिरोह को पकड़ा, चार मोबाइल फोन दो हजार रुपये नगदी और नशीली दवा के दो पत्ते बरामद...

जालंधर। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने सिटी रेलवे स्टेशन पर वारदात को अंजाम देने जा रहे जहरखुरानी गिरोह को पकड़ा है। आरपीएफ ने महिला समेत तीन लोगों को पकड़कर राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के हवाले कर दिया है। जीआरपी ने तीनों को ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश करके एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। गिरोह के तीनों सदस्य अब तक पांच वारदात को अंजाम दे चुके हैं।
आरपीएफ के कंपनी कमांडर अमित शर्मा ने बताया कि सब मंगलवार को इंसपेक्टर शैलेंदर सिंह, कांस्टेबल बालकिशन व महिला कांस्टेबल अंजू बाला प्लेटफार्म पर चेकिंग कर रहे थे। प्लेटफार्म नंबर दो पर एक महिला के साथ दो लोग बैठे किसी अप्रिय घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। आरपीएफ टीम तीनों को पोस्ट पर लेकर चले आए। तलाशी लेने पर उनके पास चार मोबाइल फोन दो हजार रुपये नगदी और नशीली दवा के दो पत्ते और एक बोतल मरिंडा की बरामद हुई। उन्होंने बताया कि वे ट्रेनों में यात्रियों के साथ सफर करते हैं। मेलजोल बढ़ाकर कोल्ड ड्रिंक में नशीली दवाई मिलाकर उसको बेहोश करके सामान लुटकर ले जाते हैं। सुंदरगढ़ (उड़ीसा) के समरू लखवा उर्फ लखन, झारखंड के दमोदर नायक व झारखंड की महिला सपना तीजा ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि अब तक अंबाला से आगे ट्रेनों में पांच वारदात को अंजाम दे चुके हैं।

Punjab Police: Moga: थाना निहाल सिंह वाला के तत्कालीन एसएचओ हरबंस सिंह रिश्वत लेने के मामले में बरी, विजिलेंस ब्यूरो भ्रष्टाचार का आरोप साबित नहीं कर सका..

मोगा। एडीशनल जिला एवं सेशन जज सुखविंदर कौर की अदालत ने वीरवार को 50,000 रुपये की रिश्वत के मामले में फंसे थाना निहाल सिंह वाला के तत्कालीन एसएचओ हरबंस सिंह और सरकारी ठेकेदार से 20,000 रुपये की रिश्वत लेने के मामले में फंसे बाघापुराना कौंसिल के जूनियर इंजीनियर को सुबूतों के अभाव में बरी कर दिया। जूनियर इंजीनियर पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के एक अन्य मामले की सुनवाई शुक्रवार को होगी।
अभियोजन पक्ष के अनुसार थाना निहाल सिंह वाला के तत्कालीन एसएचओ हरबंस सिंह के खिलाफ 12 सितंबर 2007 को थाना निहाल सिंह वाला में ही एसएसपी के आदेश पर भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत पर्चा दर्ज किया गया था। एसएचओ पर आरोप था कि उन्होंने गांव हिम्मतपुरा निवासी हरप्रीत सिंह को तस्करी में फंसाने की धमकी देकर उसके पिता तरसेम सिंह से 50,000 रुपये रिश्वत लिया था। बाद में यह मामला विजिलेंस को सौंप दिया गया था। वहीं विजिलेंस ब्यूरो ने 6 सितंबर 2006 को नगर कौंसिल बाघापुराना के जूनियर इंजीनियर सुखदर्शन सिंह को सरकारी ठेकेदार महेन्दर सिंह से 20,000 रुपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उल्लेखनीय है कि आरोपी जेई के पास धर्मकोट नगर पंचायत का अतिरिक्त कार्यभार था और ठेकेदार ने आरोप लगाया था कि उसके बिल आदि की पेमेंट करने के एवज में यह राशि मांगी गई थी। विजिलेंस छापे के दौरान जेई के मोगा स्थित सुभाष नगर दत्त रोड निवास से 83 हजार 600 रुपये की नकदी और डेढ़ किलो सोना बरामद किया गया था। विजिलेंस ब्यूरो ने जेई के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का एक अलग से मामला दर्ज किया था। केस की सुनवाई दौरान विजिलेंस ब्यूरो पुलिस इंस्पेक्टर हरबंस सिंह और जेई सुखदर्शन सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप साबित नहीं कर सकी। एडीशनल जिला एवं सेशन जज सुखविंदर कौर ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने व तथ्यों का अवलोकन करने के बाद सुबूतों के अभाव में दोनों अधिकारियों को बरी कर दिया।

UP Police: Varanasi: संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के लिपिकों के बंगले देख सीबीसीआईडी कानपुर शाखा के इंस्पेक्टर रामपाल सिंह रह गए हैरान, ऐसे शानदार बंगले बड़े-बड़े रईसों के तो हो सकते हैं ...

वाराणसी। संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में कार्यरत लिपिकों और अधिकारियों के बंगले देख फर्जीवाड़े की जांच कर रहे सीबीसीआईडी कानपुर शाखा के इंस्पेक्टर रामपाल सिंह हैरान रह गए। ऐसे शानदार बंगले बड़े-बड़े रईसों के तो हो सकते हैं किंतु विश्वविद्यालय के लिपिकों और अधिकारियों के बंगले कुछ और ही इशारा कर रहे हैं।
मामले की जांच के सिलसिले में पिछले कुछ दिनों से बनारस में डेरा डाले रामपाल सिंह विभिन्न पहलुओं की गंभीरता से जांच में लगे हुए हैं। इसी क्रम में उन्होंने कर्मचारियों और अधिकारियों की माली हालत का अंदाजा लगाने के लिए उनके घरों का अवलोकन भी किया। अब तक एक दर्जन कर्मचारियों और अधिकारियों के आवास देख चुके श्री सिंह ने बुधवार को इसी प्रकरण में एक महिला कर्मचारी से भी पूछताछ की। श्री सिंह के मुताबिक कुछ कर्मचारियों ने तो अपने फोन ही आफ कर दिए हैं जबकि कुछ लिपिकों ने पूछताछ के दौरान अपना पता गलत बताया। विश्वविद्यालय के अन्य कर्मचारियों के सहयोग से सही पता खोजा। कर्मचारियों के इस आचरण से उन पर शक और गहरा हो गया है। जांच के दौरान उन्होंने पाया कि विश्वविद्यालय के कई अवकाश प्राप्त कर्मचारी और शिक्षक भी प्राय: परिसर में ही डेरा डाले पड़े रहते हैं। लिहाजा जांच अधिकारी ऐसे लोगों के बारे में भी जानकारी जुटाने में लगे हैं जो विश्वविद्यालय के कर्मचारी न होते हुए भी यहां के कार्यों में हस्तक्षेप करते हैं। बुधवार को परिसर में अधिकारियों और कर्मचारियों से इस संदर्भ में बातचीत करने के उपरांत उन्होंने कुछ अभिलेखों की जांच पड़ताल भी की।

Delhi Police: Delhi Traffic Police: दि्ल्ली ट्रैफिक पुलिस के facebook पेज पर संकट, हाईकोर्ट में उठा सवाल..

ट्रैफिक पुलिस के फेसबुक पेज को लेकर बुधवार को हाई कोर्ट में उठे सवाल के बाद अब इस पेज पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। आशंका है कि कहीं इस पेज को बंद ही ना करना पड़े। ट्रैफिक पुलिस इसके इस्तेमाल के तौर तरीके को रिव्यू करके उसमें कुछ बदलाव भी कर सकती है , लेकिन अभी किसी अधिकारी ने इसकी पुष्टि नहीं की है। ट्रैफिक पुलिस के जॉइंट कमिश्नर सत्येंद्र गर्ग ने भी इस मामले में किसी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
दरअसल , बुधवार को हाई कोर्ट में एक मामले की सुनवाई के दौरान ट्रैफिक पुलिस के फेसबुक पेज को लेकर सवाल उठे थे और उसी दौरान ट्रैफिक पुलिस द्वारा इस पेज के इस्तेमाल के तौर तरीकों को लेकर अदालत ने भी टिप्पणी की थी। उसका ऐसा असर हुआ कि गुरुवार को दिनभर में ट्रैफिक पुलिस ने फेसबुक पेज पर केवल दो ट्रैफिक अपडेट दिए। ट्रैफिक महकमे में भी दिनभर इसी की चर्चा होती रही। हालांकि पेज पर आम लोगों की शिकायतें और कमेंट पहले की तरह आते रहे , लेकिन ट्रैफिक पुलिस उतनी एक्टिव नजर नहीं आई।

MP Police: Indore: सूर्यदेव नगर के पटवारी लवदास बैरागी की हत्या मामले में जावरा, रतलाम से खाली हाथ लौटा इंदौर पुलिस का दल..

इंदौर के सूर्यदेव नगर के पटवारी लवदास बैरागी की हत्या के मुख्य षड्यंत्रकारी अवधूतश्री भास्करानंद उर्फ भानुप्रताप सिंह की तलाश में बुधवार को इंदौर पुलिस का दल जावरा एवं रतलाम पहुंचा।
पुलिस को जानकारी मिली थी कि भास्करानंद का जावरा में आश्रम है। वहीं बिलपांक क्षेत्र के ग्राम उमरथाना में भी वह साधु के रूप में रहा था, लेकिन पुलिस को इन स्थानों से उसका कोई सुराग नहीं मिला। गौरतलब है कि सूर्यदेवनगर के पटवारी बैरागी का शव उज्जैन के समीप गंभीर नदी में मिला था। हत्या के कुछ आरोपी पुलिस गिरफ्त में हैं, जबकि षड्यंत्रकारी अभी तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा।

Mumbai Police: मुंबई पुलिस कमिश्नर का फरमान, जूनियर लेगा रिश्वत तो सीनियर की गोपनीय रिपोर्ट होगी खराब...

मुंबई।
। कमिश्नर अरूप पटनायक ने पुलिस को भ्रष्टाचार मुक्त करने के लिए इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं। निर्देशों के अनुसार, 'अगर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने किसी को भ्रष्टाचार के आरोप में पकड़ा तो उसके वरिष्ठ अधिकारियों की एसीआर में विपरीत टिप्पणी दर्ज की जाएगी। वरिष्ठ अधिकारियों में उस क्षेत्र के प्रभारी अधिकारी से लेकर डिप्टी कमिश्नर और असिस्टेंट कमिश्नर तक शामिल होंगे। Ó यह आदेश तुरंत प्रभाव से लागू हो गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस साल जनवरी से अब तक करीब 20 अधिकारी रिश्वत लेते हुए पकड़े जा चुके हैं। इस तथ्य के मद्देनजर कमिश्नर इस तरह का निर्देश जारी करने को बाध्य हुए हैं। इस अधिकारी के मुताबिक, 'इस निर्देश के बाद भ्रष्ट पुलिस वालों की संख्या में निश्चित कमी आएगी। कोई भी अपनी एसीआर में प्रतिकूल टिप्पणी दर्ज नहीं करवाना चाहेगा।Ó शुरुआत में इस व्यवस्था के तहत पुलिस फोर्स में भ्रष्टाचार के मामलों के लिए डीसीपी और एसीसी रैंक के अधिकारियों को जिम्मेदार माना जाएगा। इसके अलावा संबंधित पुलिस स्टेशन के प्रभारी का तुरंत तबादला कर दिया जाएगा। संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों को किसी तरह सफाई देने का मौका भी नहीं मिलेगा।

MP Police: Gwaliar: जीआरपी के हवलदार को 2500 रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा, थाना प्रभारी भी हवलदार की मदद करने के आरोप में गिरफ्तार..

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के हवलदार को 2500 रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया गया। लोकायुक्त पुलिस ने थाना प्रभारी को भी हवलदार की मदद करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के मुताबिक रेलवे बेंडर राजभान ने लोकायुक्त से शिकायत की थी कि जीआरपी थाना प्रभारी प्रकाश पटैरिया ने बेंडरों के साथ हुई मारपीट मामले की रिपोर्ट दर्ज करने के एवज में 30 हजार रुपये की मांग कर रहे थे। रिश्वत किश्तों में देना तय हुआ था। लोकायुक्त के निर्देश पर राजभान सोमवार रात ढाई हजार रुपये लेकर जीआरपी थाने पहुंचा। उसने पैसा थाना प्रभारी को ही देने की कोशिश की लेकिन उन्होंने वह राशि हवलदार रमाकांत कौशिक को देने की बात कही। जैसे ही राजभान ने रकम कौशिक को दी तभी लेकायुक्त पुलिस ने कौशिक को दबोच लिया। लोकायुक्त के पास पीड़ित व थाना प्रभारी के बीच हुई बातचीत का रिकार्ड है। इसी के आधार पर कौशिक के साथ थाना प्रभारी को भी गिरफ्तार किया गया है। दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। बाद में दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

Bihar Police: Patna: बिहार डीजीपी का आदेश, सभी जिलों के एसपी इंदिरा आवास के कम से कम पांच बिचौलियों को सजा दिलवाएं..

पुलिस महानिदेशक अभायनंद ने बताया कि जो काम पहले निगरानी विभाग करता था अब यह जिम्मा पुलिस संभालेगी। पुलिस महकमे को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए भी कई योजनाएं बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस पहले से ही काम के बोझ से परेशान है इसलिए उस पर अतरिक्त बोझ नहीं लादा जाएगा।
आर्थिक अपराध पर नियंत्रण के लिए ग्रुप ऑफ ऑफिसर बनाये जाएंगे जिनका काम होगा जिले के स्तर पर यह पता लगाना की किन लोगों के पास काली कमाई है। सभी जिलों को इसके लिए अतिरिक्त लिगल ऑफिसर दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इंदिरा आवास और नरेगा जैसी योजनाओं में हो रही घपलेबाजी के खिलाफ भी तेजी से कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने इस बात पर बल दिया कि सभी एसपी अपने-अपने जिले में इंदिरा आवास के कम से कम पांच बिचौलियों को सजा दिलवाएं। डीजीपी ने बताया कि इंदिरा आवास और नरेगा के बिचौलियों पर नकेल कसने के लिए सीआरपीसी की धारा ११० के इस्तेमाल का भी निर्देश मिला है । इसके तहत पक़ड़े गए बिचौलियों को सार्वजनिक रूप से उससे संबंधित इलाके में दंडाधिकारी की मौजूदगी में बांड लिखवाया जाएगा और जिस पंचायत में ऐसे मामले आएंगे उसकी सुनवाई वहीं होगी। पुलिस वहीं जाएगी और गवाही सार्वजनिक रूप से ली जाएगी।

JK Police: Srinagar: जम्मू-कश्मीर के पुलिस ट्रेनिंग संस्थान होंगे अपग्रेड, मिलेगी बिना हथियार एवं लाठी चलाए हिंसक भीड़ को काबू करने की ट्रेनिंग..

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर पुलिस प्रमुख डीजीपी कुलदीप खुड्डा ने राज्य स्थित पुलिस ट्रेनिंग कालेजों की अपग्रेडेशन कर ट्रेनिंग करने वाले जवानों को अत्याधुनिक तकनीकी एवं सुविधाएं मुहैया करवाए जाने पर जोर दिया। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला जेवन स्थित पुलिस ट्रेनिंग कालेज में आयोजित परेड समारोह का निरीक्षण करने बाद जवानों को संबोधित करेंगे।
डीजीपी कुलदीप खुड्डा ने मनीगाम पुलिस ट्रेनिंग कालेज में माडल पुलिस स्टेशन का निरीक्षण करते हुए संबंधी ट्रेनिंग कालेजों में सिखाए जाने वाले विभिन्न विषयों एवं शारीरिक कोर्सों को और बेहतर ढंग से करवाए जाने के निर्देश दिए। पुलिस प्रमुख गांदरबल मनीगाम स्थित पुलिस ट्रेनिंग कालेज में 838 ट्रेंड जवानाें द्वारा की गई परेड का निरीक्षण कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संबंधी ट्रेनिंग कालेजों में ट्रेनिंग हासिल करने वाले जवानों को विभिन्न तरह के आपराधिक वारदातों एवं चुनौतियों से निपटने के हुनर ट्रेनिंग के दौरान सिखाए जा रहे हैं। खासकर हिंसक भीड़ पर बिना गोली, लाठीचार्ज के काबू किए जाने संबंधी हुनर सिखाए जा रहे हैं। इसके अलावा साइबर क्राइम, फेक करेंसी संबंधी अन्य गैरकानूनी कारनामों में संलिप्त गिरोह सदस्य से निपटने की ट्रेनिंग दी जा रही है। डीजीपी का कहना था कि वर्तमान हालात के मुताबिक ट्रेनिंग ले रहे पुलिस जवानों को बिना हथियार एवं लाठी चलाए हिंसक भीड़ को काबू करने की ट्रेनिंग दी जा रही है। वहीं डीजीपी कुलदीप खुड्डा ने राज्य स्थित पुलिस ट्रेनिंग कालेजों में जवानों को दी जा रही ट्रेनिंग पर संतोष व्यक्त करते हुए संबंधी स्टाफ एवं कालेज प्रिंसिपलों के प्रयासों की सराहना की। खुड्डा ने कहा कि बेहतर आधुनिक तकनीक से ट्रेनिंग एवं स्थानीयवासियों के सहयोग से जम्मू-कश्मीर पुलिस राष्ट्र की सबसे ईमानदार एवं सतर्क पुलिस का दर्जा बनाए हुए है। इस अवसर पर अतिरिक्त डीजीपी एएस बाली, अतिरिक्त डीजीपी एसपी वेद के अलावा आईजीपी एनडी वानी मौजूद थे।

Bihar Police: Patna: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एसपी सहित पुलिस के आलाधिकारियों के पेच कसे, ढीले पुलिस अफसरों को ३ माह का अल्टीमेटम...

पटना । विधि व्यवस्था और विकास योजनाओं को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की दूसरे दिन भी चली मैराथन बैठक में गुヒवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विभिन्न जिलों के एसपी सहित पुलिस के तमाम आलाधिकारियों के पेच कसे। मुख्यमंत्री ने विधि व्यवस्था दुヒस्त करने की सलाह के साथ-साथ ढीले पदाधिकारियों को तीन महीने का अल्टीमेटम दिया।
बैठक में मुख्यमंत्री ने आर्थिक अपराध को गंभीरता से लेते हुए पुलिस पदाधिकारियों को नई जिम्मेदारी भी सौंपी। अब पुलिस काली कमाई से बनी चल-अचल संपत्ति भी जब्त करेगी। आर्थिक अपराध को नियंत्रित करने के लिए पुलिस मुख्यालय से लेकर जिलों तक में "गु्रप ऑफ आफिसर्स" का नया ढांचा तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर जरूरत होगी तो इसके लिए अलग से अतिरिक्त मानव संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे।

Rajasthan Police: Udaipur: अजमेर के ख्वाजा साहब का चमत्कार, आत्महत्या के लिए निकला पुलिस ड्राइवर घर वापस लौटा..

उदयपुर। अपने अधिकारी, पुलिसकर्मियों तथा कैदियों को खेरवाड़ा में ढाबे पर छोड़कर फरार हुआ गुजरात के बड़ोदा जिले की छाणी पुलिस स्टेशन का गाड़ी चालक दर असल आत्महत्या की नीयत से फरार हुआ था लेकिन अजमेर में ख्वाजा साहब की दरगाह में जियारत करने के बाद उसने अपना इरादा त्याग दिया तथा बुधवार रात्रि को बड़ोदा स्थित अपने घर पहुंच गया। जिसके पहुंचने की जानकारी मिलते ही गुजरात की क्राइम ब्रांच की टीम में उससे पूछताछ कर रही है। गौरतलब है कि बड़ोदा जिले के छाणी पुलिस थाने की एक टीम ने मादक पदार्थों की तस्करी करने के मामले में १३ अक्टूबर को नरेन्द्र पुत्र वगतराम पाटीदार निवासी मगराना मल्हारगढ़ मंदसौर मध्यप्रदेश को पकड़ा था। पूछताछ करने पर उसने यह गाड़ी मंदसौर के ही श्यामलाल पाटीदार की होना बताया था। जिसे गिरफ्तार करने के लिए छाणी पुलिस थाने की टीम मध्यप्रदेश के लिए रवाना हुई। इस टीम में एक सब इंस्पेक्टर आर.एस. खराड़ी, एक एएसआई भरत सिंह, दो कांस्टेबल किरणभाई, संतोष बिहारी, दो चालक जयसिंह तथा दिनेश भाई थे। श्यामलाल को पकड़कर पुलिस पूछताछ के लिए पुन: गुजरात की ओर जा रहे थे कि इसी दौरान रास्ते में चालक दिनेश भाई वोरा एक होटल पर सभी को उतार कर गाड़ी लेकर फरार हो गया था।
गाड़ी में रखी राईफल को उसने उदयपुर के हिरणमगरी क्षेत्र में जड़ाव नर्सरी के पास रेल्वे क्रासिंग के पास छोड़ दिया था। जिसके बाद गाड़ी को सेक्टर ३ में छोड़कर फरार हो गया था। मामले की जानकारी मिलने पर गुजरात से पुलिस की टीम भी उदयपुर आई थी। इस टीम ने उदयपुर में सभी स्थानों पर घटनास्थलों को देखा था। अभी गुजरात तथा राजस्थान पुलिस चालक की तलाश कर ही रही थी कि इसी दौरान गुजरात की बड़ोदा पुलिस को जानकारी मिली कि चालक दिनेश भाई स्वयं ही अपने घर पर आ गया है। जिस पर पुलिस की एक टीम ने उससे जाकर पूछताछ की। छाणी थानाधिकारी आर.एल. सांगली ने बताया कि चालक दिनेश भाई वोरा काफी समय से पारिवारिक परेशानियों से दु:खी था। जिस कारण से उसकी मानसिक स्थिति सही नहीं थी। सांगली ने बताया कि पुन: गुजरात की ओर जाते समय खेरवाड़ा में चालक दिनेश को कुछ नहीं सूझा तथा वह गाड़ी लेकर फरार हो गया। वोरा गाड़ी लेकर निकला ही आत्महत्या करने के इरादे से था । उसने पहले तो आत्महत्या करने का प्रयास किया था परन्तु बाद में राईफल फैंक दी थी। थानाधिकारी ने बताया कि वोरा गाड़ी को हिरणमगरी क्षेत्र में छोड़कर पैदल ही निकल गया था तथा जो भी बस मिली उसमें बैठ गया। जिससे वह सीधा बांसवाड़ा पहुंच गया। बांसवाड़ा में कुछ देर रूकने के बाद वह सीधा अजमेर चला गया।
हालांकि इस दौरान वोरा के आत्महत्या करने का पूरा इरादा था। अजमेर वह विश्व प्रसिद्ध ख्वाजा साहब की दरगाह में गया। जहां उसे मानसिक सुकून मिला तथा उसने आत्महत्या करने का इरादा ही छोड़ दिया तथा वहीं से अपनी पत्नी को करीब ५ बार फोन किया। उसकी पत्नी ने भी उसे घर आने के लिए कहा तथा कोई भी गलत कदम उठाने से मना किया तो वोरा ने स्वयं भी आत्महत्या करने से इंकार कर दिया तथा अपनी पत्नी को घर आने की जानकारी दी। वोरा बुधवार शाम को उसके घर पर पहुंच गया। इस बारे में पुलिस अधिकारियों को जानकारी मिलने पर पुलिस उसके घर पहुंची थी। बच्चे नहीं होने से परेशान था :- छाणी थानाधिकारी सांगली ने बताया कि वोरा की शादी हुए काफी समय बीत चुका था तथा उसके कोई संतान नहीं थी। इस कारण वह काफी डिप्रेशन में था। वह थाने में भी स्टाफ से काफी अलग रहता था। इस बारे में थाने के पूरे स्टाफ को पता था। अपनी पत्नी तथा स्वयं का अकेलापन दूर करने के लिए उसने करीब २ वर्ष पूर्व अपने साले की पुत्री को गोद लिया था। परन्तु फिर भी उसे अपनी एक संतान की बेहद चाह थी।

Thursday, October 20, 2011

Chatisgarh Police: Baster: बस्तर में चुने गए जवानों का पहला प्रशिक्षण सत्र शुरू , सीखेंगे छह माह तक युद्ध कला..

जिले के लिए मंजूर 1800 पदों में से पहले चरण में 517 का चयन किया गया है। इन्हें कानून-व्यवस्था के पालन, आम लोगों से व्यवहार, जंगलवार से लेकर शारीरिक, मानसिक प्रशिक्षण देने की नामजद जवाबदेही तय की जा चुकी है।
चुने गए जवानों का पहला प्रशिक्षण सत्र शुरू होने के पहले पुलिस के सीनियर अफसरों ने सीख दी। एसपी नरेंद्र खरे ने हौसला बढ़ाते कहा कि अनुशासन में रहकर अपने दुश्मनों को खदेड़ ना हमारा पहला लक्ष्य होना चाहिए। एएसपी बीपी राजभानु ने आशा जताई कि जल्द ही अमन-चैन कायम होगा। पुलिस लाइन के मैदान में एसडीओपी अशोक सिंह, अनंत साहू, एसएन सिंह, नरेश चौहान, पीके कुजूर, यादराम साहू, अरूण तिग्गा, संतोष बंजारे, सुरेंद्र सिंग, लक्ष्मी चौहान, लल्लन सिंह आदि मौजूद थे। ज्ञात हो पूर्व में इन्हें एसपीओ के रूप में निश्चित मानदेय पर सुरक्षा बलों की रहनुमाई के लिए तैनात किया गया था। भौगोलिकता से अच्छी तरह वाकिफ होने से इनकी अहमियत बढ़ गई थी। बाद में सुप्रीम कोर्ट में आदेश पर एसपीओ को निहत्था कर दिया गया। राज्य शासन ने इन्हें पुन: रखने छग सशस्त्र सहायक आरक्षक बल में शामिल करना तय किया।

Rajasthan Police: Jaipur: अफसरों के इशारे पर वसूली, हर महीने डेढ़ से दो करोड़ की मासिक बंधी थी..

जयपुर। परिवहन विभाग की शाहजहांपुर चौकी पर विभाग के अफसरों के इशारे पर ओवरलोड वाहनों से अवैध वसूली का गोरखधंधा चल रहा था। वाहनों के साथ ट्रांसपोर्ट कम्पनियों से मासिक बंधी वसूलने के लिए अफसरों ने प्राइवेट लोगों व गार्डो की फौज खड़ी कर रखी थी। इनके वेतन व खाने-पीने का खर्चा तक अफसर ही उठाते थे। करीब सवा महीने पहले शाहजहांपुर चौकी पर छापे की कार्रवाई के बाद भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने ओवरलोड वाहनों से अवैध वसूली में चौकी पर तैनात निरीक्षकों को तो दोषी माना है, साथ ही अलवर की जिला परिवहन अधिकारी की लिप्तता सामने आई है। प्रारंभिक जांच में जिला परिवहन अधिकारी व निरीक्षकों की मिलीभगत सामने आने पर एसीबी ने इनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
अवैध वसूली में 3 प्राथमिकी एसीबी ने ओवरलोड वाहनों से अवैध वसूली को लेकर शाहजहांपुर चौकी पर नियुक्त निरीक्षक शिवकुमार सांखला, वाहन चालक सुमेर सिंह यादव व सरकारी गार्ड नानगराम के खिलाफ अलग-अलग तीन प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज की हैं। एसीबी ने छापे के दौरान सांखला की जेब से चौदह हजार छह सौ रूपए, सुमेर सिंह से 56 हजार व नानगराम से 8400 रूपए जब्त किए थे। निजी के खिलाफ भी पीई जांच में एसीबी ने माना है कि शाहजहांपुर चौकी पर संगठित तौर पर वाहनों से अवैध वसूली और इसके लिए नियम विरूद्ध तरीके से नियुक्त प्राइवेट लोगों के बारे में जिला परिवहन अधिकारी अलवर रानी जैन व निरीक्षकों को भी पता था, लेकिन इन्होंने इस गोरखधंधे को रोकने का प्रयास नहीं किया। एसीबी ने रानी जैन के अलावा, निरीक्षक विनोद सैनी, शिव कुमार सांखला, आदर्श राघव, मनोज शर्मा व जयसिंह के खिलाफ पद के दुरूपयोग को लेकर पीई दर्ज की है। पीई में प्राइवेट व्यक्ति सतीश, महावीर, वामन सिंह, समुन्द्र सिंह, रामावतार, लक्ष्मण को भी नामजद किया है। इन पर अवैध वसूली कर चौकी के काउन्टर में राशि जमा कराने और इस राशि को अफसरों व निरीक्षकों तक पहुंचाने का आरोप है।
पहली बार पकड़ी थी चोरी अवैध वसूली की शिकायत पर एसीबी टीम ने 4 सितम्बर को सुबह शाहजहांपुर चौकी पर छापा मारा। कर्मचारियों व निजी गार्डो के पास 92 हजार से अधिक अवैध रकम मिली। छापा पड़ते ही कई प्राइवेट लोग राशि लेकर भाग छूटे। साथ ही अवैध तरीके से गार्ड की नौकरी कर रहे लोगों को भी पकड़ा। हर महीने डेढ़ से दो करोड़ की मासिक बंधी एसीबी ने जांच में पाया कि चौकी पर रोज पांच से सात लाख रूपए की अवैध वसूली होती थी। इसमें ट्रांसपोर्ट कम्पनियों से ली जाने वाली मासिक बंधी अलग से है। कम्पनियों से हर महीने डेढ़ से दो करोड़ रूपए मासिक बंधी की बात सामने आई है। शाहजहांपुर चौकी पर ओवरलोड वाहनों से अवैध वसूली में निरीक्षकों व प्राइवेट लोगों के साथ जिला परिवहन अधिकारी की लिप्तता भी सामने आई है। अवैध वसूली को लेकर तीन एफआईआर व पद के दुरूपयोग को लेकर एक पीई दर्ज की है। महेन्द्र सिंह हरसाना, अतिरिक्त उपाधीक्षक एसीबी राकेश कुमार शर्मा

Rajasthan Police: Kota: कोटा के सेंट्रल जेल अधिकारियों का करिश्मा, ठीक होकर आए हारमोनियम में मिलें दो मोबाइल, दो चार्जर व गुटखा-तंबाकू..

कोटा. सेंट्रल जेल में बुधवार को बाजार से ठीक होकर पहुंचे एक हारमोनियम में दो मोबाइल, दो चार्जर व गुटखा-तंबाकू सहित व्यसन की अन्य सामग्री जेल पुलिस ने बरामद की। इससे पहले भी जेल पुलिस चैकिंग के दौरान सिम व मोबाइल पहले भी बरामद कर चुकी है। जेलर गोविंद सिंह ने बताया कि जेल में कैदियों के मनोरंजन व सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए कई प्रकार के वाद्ययंत्र है। कुछ दिन पहले हारमोनियम खराब हो जाने पर उसे हरिओम गैस बालाकुण्ड वाले के यहां ठीक करवाने भेजा गया था। बुधवार को एक युवक उसे जेल पहुंचाने आया।
संतरी ने शक होने पर हारमोनियम को खुलवाकर तलाशी ली। संतरी ने जब अंदर देखा तो पहले उसे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि ऐसा भी हो सकता है। हारमोनियम के अंदर दो मोबाइल, दो चार्जर सहित जर्दा व तंबाकू की सामग्री बरामद हुई। पूछताछ में पता चला है कि हत्या के मामले में उम्रकैद भुगत रहे मोहन कुमार प्रजापति ने ही इसकी योजना बनाई थी। जहां यह हारमोनियम ठीक होने भेजा गया था, वह उसके साथी बंदी जितेन्द्र के मिलने वाले की दुकान थी। जितेंद्र का रिश्तेदार त्रिवेंद्रसिंह ही हारमोनियम में यह सामग्री रखकर लाया था। दोषी कैदी पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं हारमोनियम को लाने वाले के बारे नयापुरा पुलिस को शिकायत दी है। नयापुरा पुलिस और डिप्टी सीताराम माहीच का कहना है कि उन्हें जेल से कोई शिकायत नहीं मिली है। सवाल जो जवाब मांगते हैं -कैदी को कैसे पता चला कि कोई हारमोनियम ठीक होने, कहां गया है? - हारमोनियम ठीक करने वाले के पास बंदी का रिश्तेदार कैसे पहुंचा? - जेल में बंदी के पास क्या पहले से ही मोबाइल है जिससे बंदी ने हारमोनियम ठीक करने वाले और अपने रिश्तेदार से बात की - जिस तरह इसमें मोबाइल रखकर भेजे गए, ऐसे तो बाहर से कोई भी विस्फोटक अथवा आपत्तिजनक सामग्री भी जेल में पहुंचाई जा सकती है?

Rajasthan Police: Jaipur: ट्रकों से अवैध वसूली के आरोप में यातायात पुलिस के एक एएसआई और दो सिपाहियों को निलंबित...

जयपुर. कर दिया गया है। पुलिस आयुक्त कार्यालय ने इंटरसेप्टर वाहन में तैनात एएसआई पन्नालाल, सिपाही जयसिंह व जयपाल को निलंबित कर दिया। सतर्कता शाखा ने 16 सितम्बर को तीनों पर नजर रख यह मामला उजागर किया था। इन्हें पुलिस लाइन भेजा गया है। मामले में सतर्कता शाखा भी जांच कर रही है।
पुलिस मुख्यालय की सतर्कता शाखा को टोंक रोड पर इंटरसेप्टर वाहन में तैनात पुलिसकर्मियों की ओर से ट्रकों व दूसरे वाहनों से अवैध वसूली की शिकायतें मिल रही थी। इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में 16 सितम्बर, 2011 को हल्दीघाटी मार्ग पर खड़े इंटरसेप्टर वाहन पर नजर रखी तो एएसआई समेत दोनों पुलिसकर्मियों के ट्रक चालकों से अवैध उगाही का मामला पकड़ में आया। एक ट्रक चालक ने पूरे कागजात होने पर भी जयसिंह के दस हजार रूपए मांगने व नहीं देने पर जबरन कागजात छीन ले जाने और ट्रक को जब्त करने की धमकी देने का बयान दिया। एक अन्य ट्रक चालक से भी तीन हजार मांगे और नहीं देने पर चालान कर दिया। दो अन्य भी निलम्बित सतर्कता शाखा की ओर से 8 सितम्बर, 2011 को मालवीय नगर स्थित बालाजी चौराहे के पास अवैध उगाही के आरोप में पकड़े गए एएसआई सुभाष सिंह व सिपाही दारा सिंह को भी निलंबित कर दिया है। इन दोनों को एसआई प्यारा सिंह ने पकड़ा था।

Gujrat Police: Ahemdabad: गुजरात निलंबित आईपीएस ऑफिसर संजीव भट्ट को आईपीएस असोसिएशन का समर्थन मिला

अहमदाबाद ।। गुजरात की मोदी सरकार से पंगा लेकर जेल में बंद निलंबित आईपीएस ऑफिसर संजीव भट्ट को आईपीएस असोसिएशन का समर्थन मिल गया है। शनिवार को हुई एक आकस्मिक बैठक में असोसिएशन ने भट्ट और उनके परिवार को समर्थन देने का फैसला किया। गौरतलब है कि गुजरात आईपीएस असोसिएशन करीब-करीब मृत संस्था का रूप ले चुका था। डीआईजी राहुल शर्मा और संजीव भट्ट के खिलाफ प्रदेश सरकार की ओर से आरोपपत्र दायर किए जाने पर भी इसने चुप्पी ही बनाए रखी थी। जब मौका आया इसने मोदी सरकार को खुश करने वाले फैसले ही किए। उदाहऱण के लिए जब असोसिएशन के अध्यक्ष और मोदी सरकार के खिलाफ स्टैंड लेने की हिम्मत रखने वाले आईपीएस एडीजीपी कुलदीप शर्मा को दरकिनार कर दिया गया तब भी असोसिएशन ने कुछ बोलने की जरूरत नहीं महसूस की। वह डीजीपी पद के हकदार माने जा रहे थे, मगर उन्हें यह पद नहीं दिया गया। ऐसे मामलों में चुप्पी रखने वाले असोसिएशन ने सोहराबुद्दीन फर्जी एनकाउंटर मामले में फंसे आईपीएस डीजी वंजारा, राजकुमार पांडियान और अभय चूड़ासमा जैसे आईपीएस ऑफिसरों का ही समर्थन किया था।
शनिवार को असोसिएशन के सदस्य दरअसल एडीजीपी के नित्यानंदन की बेटी की शादी में इकट्ठा हुए थे। राज्य भर के ऑफिसरों की मौजूदगी को देखते हुए असोसिएशन की बैठक करके भट्ट की गिरफ्तारी पर विचार करने का फैसला किया गया। कम से कम 35 अधिकारियों ने एडीजीपी दीपक स्वरूप को अध्यक्ष बनाने और भट्ट परिवार को समर्थन देने के प्रस्ताव के पक्ष में मत दिया। इस बैठक के बाद भट्ट के बैच मेट रह चुके तीन आईजी अतुल करवाल, वी.एम. पारगी और प्रवीण सिन्हा उनके घर गए। तीनों ऑफिसर कम से कम एक घंटे भट्ट परिवार के साथ रहे। संजीव भट्ट की पत्नी श्वेता ने बताया कि 'वे संजीव के साथ अपनी एकजुटता दिखाने आए थे।'

Gujrat Police: Ahemdabad: विदेशी प्रेमी जोड़े से परेशान गुजरात पुलिस, प्रेमी जेल में, प्रेमिका करती है विदेश से बार बार फोन..

अहमदाबाद। अंतरराष्ट्रीय वीजा घोटाले में गिरफ्तार नाईजीरियन के प्रांतीय राजकुमार इरापोमो इरादरी की क्राइम के साथ प्रेम कहानी भी हॉलीवुड फिल्मों के प्लॉट जैसी ही है। लगभग सभी यूरोपियन देशों में घूमते-फिरते रहने वाले इरापोमो की इन सभी देशों में गर्लफ्रैंड्स हैं। इसमें से एक मलेशियन सुंदरी जीन ने तो अहमदाबाद पुलिस तक को हिलाकर रख दिया है। दरअसल इन दिनों इरापोमो अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद है और गर्लफ्रैंड जीन उससे मिलना चाहती है। इतना ही नहीं जीन जमानत पर इरापोमो को रिहा करवाकर उसके साथ अहमदाबाद में ही स्थायी हो जाने की बात भी कर रही हैं। जीन ने यह बात फोन पर अहमदाबाद पुलिस से कही है।
इरापोमो की हाल ही में क्राइम ब्रांच ने 90 लाख रुपए के वीजा घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया है। अत्यंत वैभवशाली जीवन जीने वाले इस 'प्रिंस के नखरे पुलिस भी उठा रही है। दरअसल ये रोज चार पैकेट क्लासिक माइल्ड सिगरेट और दो समय नॉनवेज खाने की मांग करते हैं। हालांकि क्राइम ब्रांच दो बार नॉनवेज की पूर्ति तो कर नहीं सकती लेकिन सिगरेट तो पिला ही देती है। सोमवार को रिमांड की कार्रवाई पूरी होने के बाद क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर परेश सोलंकी के मोबाइल पर मलेशिया से एक फोन आया। फोन करने वाली एक लड़की थी, जो अंग्रेजी में बात कर रही थी। इंस्पेक्टर ने लड़की को फोन पर बताया कि इरापोमो की रिमांड पूरी हो चुकी है और उसे अब जेल भेजा जा रहा है। यह बात सुनते ही जीन फोन पर ही रो पड़ी। रोते हुए उसने इंस्पेक्टर से कहा कि वह इरापोमो से मिलना चाहती है। लेकिन नाइजीरिया की इंडियन एंबेसी ने उसे वीजा देने से मना कर दिया है। जीन ने कहा कि वह किसी भी कीमत पर अहमदाबाद आकर इरापोमो को रिहा कराना चाहती है। हालांकि जीन की इस समस्या का हल तो इंस्पेक्टर के पास था नहीं। जीन सोमवार को फिर से नाइजीरिया की इंडियन एम्बसी में इंडिया के वीजा के लिए निवेदन करने जाएंगी। वे अहमदाबाद आकर जीन को जमानत पर रिहा करवाना चाहती हैं। इसके साथ ही उनका यह भी कहना है कि अहमदाबाद आकर वे इरापोमो के साथ यहीं बस जाएंगी।

Maharastra Police: Anna: अन्ना के मना करने पर भी पुलिस नहीं मानी, दे दी जेड सेक्योरिटी..

पुणे। गांधीवादी समाजसेवी अन्ना हजारे की सुरक्षा में चार की जगह अब 11 सुरक्षाकर्मियों को लगाया गया है। उनके निवास पद्मावती मंदिर और कार्यालय के प्रवेश द्वार पर तीन मेटल डिटक्टर उपकरण लगाए गए हैं। अन्ना से मिलने आने वाले सभी आगंतुकों को अब इससे होकर गुजरना पड़ेगा। इन उपकरणों को बुधवार रात लगाया गया है। महाराष्ट्र सरकार पिछले दो महीनों से हजारे की सुरक्षा बढ़ाने की कोशिश कर रही थी लेकिन वह मना कर देते थे। उधर, अन्ना ने अपनी जान को खतरे की आशंका के मद्देनजर उन्हें जेड श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने के महाराष्ट्र प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। हजारे ने बुधवार रात उनके गांव रालेगण सिद्धि में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) सत्यपाल सिंह के साथ बैठक में इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया। हजारे इस समय मौन व्रत कर रहे हैं इसलिए उन्होंने अपना निर्णय लिखकर बताया।
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने हजारे से मुलाकात करने से पहले रालेगण सिद्धि पहुंचकर अहमदाबाद पुलिस के साथ उच्च स्तरीय बैठक की और उनकी सुरक्षा पर चर्चा की लेकिन हजारे ने खुद को एक स्वतंत्रता सेनानी बताते हुए सुरक्षा लेने से इनकार कर दिया। पुलिस ने बताया कि राज्य सरकार ने हजारे को एहतियातन सुरक्षा मुहैया कराने की सलाह दी थी और उनकी जान को खतरे संबंधी कोई भी खुफिया जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। अहमद नगर पुलिस ने भी हजारे को नई दिल्ली में 12 दिनों के अनशन के बाद अपने गांव लौटने पर गत सितंबर में ऎसा ही प्रस्ताव दिया था जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था। उल्लेखनीय है कि किसी व्यक्ति की जान को खतरे की आशंका होने पर केंद्र और राज्य सरकारें जेड श्रेणी के तहत 22 सुरक्षा कर्मियों को उसकी सुरक्षा के लिए तैनात करती हैं। पिछले एक सप्ताह में हजारे की टीम के दो अहम सदस्यों पर हमले हुए हैं। पहले उनके सहयोगी प्रशांत भूषण पर 12 अक्टूबर को उच्चतम न्यायालय के उनके चैम्बर में दक्षिणपंथी गुट से जुडे कुछ युवकों ने हमला किया था और उसके कुछ ही दिन बाद उनके एक अन्य सहयोगी अरविन्द केजरीवाल पर एक युवक ने चप्पल फेंकी थी।

Maharastra Police: बिग बॉस के घर में पुलिस!, टीवी सीरियल के शूट में असली पुलिस का क्या काम है..

बिग बॉस का घर डिजाइन करने वाले श्याम भाटिया ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि पुलिस उनके द्वारा बनाए गए खूबसूरत घर में आएगी। कर्जत में स्थित इस घर में पुलिस जाने का प्लान बना रही है क्योंकि उन्हें अमर उपाध्याय को कोर्ट का समन देना है। उदयपुर कोर्ट में अमर की कंपनी के ऊपर चेक बाउंसिंग का एक मामला चल रहा है।
लोकप्रिय धारावाहिक ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ में अमर ने मिहिर वीरानी का किरदार निभाया था जो अपने समय में बेहद पॉपुलर हुआ। इसी नाम से प्रेरित होकर अमर ने मिहिर वीरानी मल्टीट्रेड प्रा.लि. नामक एक कंपनी दो पार्टनर के साथ मिलकर खोली जो फाइनेंस चेन-मेम्बरशिप सिस्टम के मुताबिक काम करती है। उदयपुर के रहने वाले हरिनारायण सोनी ने इस कंपनी में पैसा निवेश किया और उनके मुताबिक सन 2001 में उन्हें 7 लाख रुपये का फायदा हुआ। उन्हें यह भुगतान आठ वर्ष बाद अमर की कंपनी की ओर से किया गया, लेकिन यह चेक बाउंस हो गया। सोनी ने इसकी शिकायत पुलिस में की और मामला कोर्ट तक जा पहुंचा। इस मामले में अमर के पब्लिसिस्ट और प्रवक्ता डेल भगवागर का कहना है ‘जहां तक मुझे पता है, अमर ने इस कंपनी को दिसम्बर 2003 में छोड़ दिया था। उसके बाद से वे इसका हिस्सा कभी नहीं रहे। जिस चेक की बात की जा रही है वो अमर के कंपनी छोड़ने के बाद जारी किया गया है। अमर को संभवत: इस बारे में कुछ भी पता नहीं है। अमर लोकप्रिय हैं, बिग बॉस के शो में हैं, इसलिए प्रचार पाने के लिए किसी ने ऐसी हरकत की है।‘

North East Police: रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के एक जवान को गैरकानूनी हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार..

गुवाहाटी।। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के एक जवान को गैरकानूनी हथियार रखने के आरोप में यहां रेलवे स्टेशन से शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया। ऐर्णाकुलम एक्सप्रेस में सवार अमृत कुमार राणा को सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने गिरफ्तार किया।
पुलिस ने बताया कि उसके पास से नौ एमएम की एक पिस्तौल, दो मैग्जीन और कारतूस बरामद हुए हैं। हथियार और कारतूस उसे जारी नहीं किए गए थे बल्कि सेना से संबंधित हैं।

Bihar Police: Patna: बिहार के डीजीपी अभ्यानंद का बयान, भ्रष्ट्राचार को आर्थिक अपराध के दायरे में लाया जाएगा..

पटना।। बिहार के डीजीपी अभ्यानंद ने बुधवार कहा कि प्रदेश में आर्थिक अपराध के दायरे में भ्रष्टाचार को भी लाया जाएगा और इसके लिए आर्थिक अपराध कोषांग को और भी सशक्त बनाया जाएगा। यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में पूरे प्रदेश के प्रमंडलीय स्तर और जिलास्तर के प्रशासनिक और पुलिस पदाधिकारियों की आज से शुरू मीटिंग के पहले सेशन के बाद बातचीत करते हुए अभ्यानंद ने कहा कि प्रदेश में आर्थिक अपराध के दायरे में भ्रष्टाचार को भी लाया जाएगा और इसके लिए आर्थिक अपराध शाखा को और भी सशक्त बनाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामलों के लिए प्रदेश में पहले से निगरानी विभाग है, लेकिन उसकी तुलना में पुलिस विभाग बड़ा विभाग है। कानूनी रूप से भ्रष्टाचार के मामले को पुलिस विभाग भी दर्ज कर सकता है, लेकिन परंपरा के अनुसार उनका विभाग ऐसे मामलों को दर्ज नहीं करता था।

WB Police: Kolkata: वर्द्धमान जिले में दो सशस्त्र गुटों के बीच आपसी संघर्ष में छह पुलिसकर्मी घायल..

कोलकाता।। पश्चिम बंगाल के वर्द्धमान जिले में दो सशस्त्र गुटों के बीच आपसी संघर्ष में एक युवक की मौत हो गई, जबकि छह पुलिसकर्मी घायल हो गए। जिले के एक अधिकारी ने बताया कि मास्तरपारा इलाके के हातन रोड पर एक धार्मिक जुलूस को लेकर दो प्रतिद्वंद्वी गुटों में संघर्ष हो गया। आपसी संघर्ष को सुलझाने और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस के वहां पहुंचने पर भीड़ के एक हिस्से ने पुलिस पर ही हमला कर दिया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों को हवा में गोलीबारी करनी पड़ी।
अधिकारी ने बताया कि भीड़ के हमले में आसनसोल उत्तर के पुलिस स्टेशन प्रभारी विकास दत्ता समेत छह पुलिसकर्मी घायल हो गए। आपसी संघर्ष में सुजीत वर्मा नाम के एक युवक की मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि पोस्टमॉर्टम के बाद ही युवक की मौत का कारण पता चल पाएगा। हिंसा प्रभावित क्षेत्र में अब भी पुलिस बल डेरा डाले हुए हैं। कस्बे के बाकी हिस्सों में स्थिति सामान्य है।

UP Police: Anna Hazare: केजरीवाल पर चप्पल फेंकने वाले की नौकरी गई, पुलिस ने इसमें कुछ नहीं किया भाई..

लखनऊ।। समाजसेवी अन्ना हजारे के प्रमुख सहयोगी अरविंद केजरीवाल पर चप्पल फेंकने वाले जितेंद्र पाठक को नौकरी चली गई है। लखनऊ की जिस निजी कंस्ट्रक्शन कंपनी में वह काम करता था उसने घटना का संज्ञान लेते हुए जितेंद्र को नौकरी से निकाल दिया।
लखनऊ स्थित अंश प्रॉजेक्ट सर्विस के अध्यक्ष रवीन्द्र सिंह ने गुरुवार को बताया कि जितेंद्र उनकी कंपनी में सुपरवाइजर के पद पर काम करता था। उसके उग्र व्यवहार को देखते हुए उसे नौकरी से निकाल दिया गया है। सिंह ने कहा कि कुछ महीने पहले ही उसे काम पर रखा गया था। उसने कंपनी में तो कोई अनुशासनहीनता नहीं की लेकिन केजरीवाल के साथ उसने जो कुछ भी किया वह आश्चर्यजनक और चौंकाने वाला था। सिंह ने कहा कि ऐसे विवादित शख्स को कंपनी में नहीं रखा जा सकता, इसलिए उसे नौकरी से निकालने का फैसला किया है।

MP Police: Bhopal: मध्य प्रदेश के गृहमंत्री का फरमान, तीन माह में पूरी हो पुलिस अधिकारियों की विभागीय जांच..

भोपाल।। मध्य प्रदेश के गृहमंत्री उमाशंकर गुप्ता ने पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों की लंबित विभागीय जांचों को तीन माह में पूरी करने के लिए विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया है।
गृहमंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक में लंबित विभागीय जांच के प्रकरणों की गहन समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों की विभागीय जांच चल रही है, उनकी फील्ड में पोस्टिंग करने पर विचार नहीं किया जाए तथा विभागीय जांच में गति लाने के लिये प्रतिमाह आईजी के साथ बैठक कर समीक्षा की जाए। उन्होंने शासन स्तर पर लंबित प्रकरणों का त्वरित निराकरण करने के लिए गृह सचिव को निर्देश दिए। गुप्ता ने कहा कि जिन प्रकरणों में कोर्ट ने स्टे का आदेश दिया है, उनकी समीक्षा कर जबाव प्रस्तुत किया जाए।

WB Police: IRB Jawans Revolt: अनुशासनहीनता के चलते आईआरबी के 300 जवानों का ट्रांसफर

कोलकाता।। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के माओवाद प्रभावित जंगलमहल के दौरे से घंटों पहले अधिकारियों ने अनुशासनहीनता के चलते इंडियन रिजर्व बटालियन (आईआरबी) के 300 जवानों का ट्रांसफर कर दिया। राज्य सशस्त्र पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पिछले महीने 21 सितंबर को जंगलमहल के शिविरों में आंदोलन करने वाले आईआरबी के पहले बटालियन के 300 जवानों का बैरकपोर राज्य सशस्त्र पुलिस बैरक में ट्रांसफर कर दिया गया है।
माओवाद विरोधी अभियान से जुड़े आईआरबी के सात जवानों को जोखिम भरे क्षेत्रों में भेजे जाने और अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर उदासीन रवैया रखने के खिलाफ आंदोलन करने के कारण शुक्रवार को सस्पेंड कर दिया गया था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, 'हमने सात जवानों को अनुशासनहीनता करने के चलते सस्पेंड कर दिया और अभी कुछ और लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।' जब उनसे पूछा गया कि क्या जवानों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर कोई सुनवाई होगी तो उन्होंने कहा कि वह अभी इस पर कुछ कह नहीं सकते। 21 सितंबर को जंगलमहल में माओवादियों के खिलाफ अभियान में लगे आईआरबी के जवानों ने अपने शिविरों में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दिया था। यह आंदोलन उन्होंने अधिकारियों की उनके प्रति उदासीनता और जोखिम भरे जगहों पर नियुक्ति करने के खिलाफ किया था। सशस्त्र पुलिस के पूर्व महानिदेशक गौतम मोहन चक्रवर्ती के दखल देने के बाद दो दिन बाद यह आंदोलन खत्म कर दिया गया था। उन्होंने जवानों को भरोसा दिलाया था कि अधिकारी उनकी मांगों पर ध्यान देंगे। मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद से ममता बनर्जी दूसरी बार नक्सल प्रभावित जंगलमहल क्षेत्र का दौरा करेंगी।

MP Police: Indore: अपहरण की फर्जी कहानियों से इंदौर पुलिस की नाक दम,

इंदौर।। अपहरण की फर्जी कहानियों ने इन दिनों इंदौर पुलिस की नाक में दम कर रखा है, जिनके चलते उसे काल्पनिक किडनैपर्स की तलाश में बेमतलब खाक छाननी पड़ रही है। हफ्ते भर में पुलिस ने ऐसी चार कहानियों का खुलासा किया है। इनमें सबसे ताजा मामला 25 वर्षीय विवाहित शिक्षिका का है, जिसने कम उम्र के प्रेमी के साथ भागकर दूसरी शादी करने के बाद अपने ही किडनैप की कहानी गढ़ दी। एसपी सिटी शैलेंद्र सिंह चौहान ने मंगलवार को बताया कि शहर के मल्हारगंज थाना क्षेत्र से नीलम व्यास (25) दो सितंबर को अचानक लापता हो गई थी। पुलिस थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई थी।
उन्होंने बताया कि एक निजी स्कूल में पढ़ाने वाली नीलम ने 16 अक्तूबर को अपने परिजन को फोन किया और बताया कि एक गिरोह उसे अगवा करके भोपाल ले गया है, जहां उसे एक मकान में बंधक बनाकर रखा गया है। उसने फोन पर कथित रूप से यह भी बताया कि नशे के इंजेक्शन दिए जाने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया जा रहा है। नीलम के फोन कॉल से घबराए परिजनों ने पुलिस को इस बात की सूचना दी। चौहान ने बताया कि पुलिस ने लापता शिक्षिका को मोबाइल फोन की लोकेशन के आधार पर भोपाल के अयोध्या बायपास क्षेत्र में सोमवार देर रात ढूंढ निकाला। उसके साथ उसके प्रेमी राजकुमार उर्फ राजू (23) को भी पकड़ लिया गया। उन्होंने बताया कि नीलम की तीन साल पहले ही शादी हो चुकी है। लेकिन बस में सफर के दौरान उसे राजू से प्यार हो गया। उसने भागकर अपने प्रेमी के साथ दूसरी शादी कर ली और अपने अपहरण की झूठी कहानी गढ़ दी।
चौहान ने नीलम से हुई पूछताछ के हवाले से बताया, ' उनको लगता था कि अपने अपहरण की फर्जी कहानी गढ़ने के बाद वह प्रेमी के साथ आराम से रह सकेगी।' पुलिस ने नीलम और राजकुमार के खिलाफ संबद्ध धाराओं में आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया है। बहरहाल, जैसा कि एसपी सिटी चौहान बताते हैं कि शहर में हफ्ते भर के दौरान ऐसे ही तीन अन्य मामलों का भंडाफोड़ किया गया है। इन मामलों में 12 वर्षीर्य छात्र, 13 वर्षीय छात्रा आर 30 वर्षीय शख्स ने अपने अपहरण की झूठी कहानियों से पुलिस की मुसीबतें बढ़ा दी थीं। उन्होंने बताया, 'पुलिस को झूठी जानकारी देना कानूनन अपराध है। खुद के अपहरण के किस्से गढ़ने वालों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जा रही है, ताकि इस प्रवृत्ति पर रोक लग सके।'

Mumbai Police: बांबे हाईकोर्ट का पुलिस को निष्पक्ष और गैर भेदभावपूर्ण रुख अपनाने का आदेश, डिस्कोथेक नियमों का उल्लंघन करने वाले सभी होटलों के खिलाफ समान कार्रवाई करें..

मुंबई॥ पुलिस को निष्पक्ष और गैर भेदभावपूर्ण रुख अपनाने का आदेश देते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट ने बांद्रा और जुहू के डीसीपी से कहा है कि वे डिस्कोथेक के लिए निर्धारित नियमों का उल्लंघन करने वाले सभी होटलों के खिलाफ कार्रवाई करें।
जस्टिस पी.बी. मजूमदार और जस्टिर्स आर.एम. सावंत की खंडपीठ ने होटल सी प्रिंसेज की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया। डीसीपी ने इस होटल को उसके परिसर में डिस्कोथेक चलाने की अनुमति नहीं दी थी, जिसे होटल ने कोर्ट में चुनाती दी थी। पुलिस को 21 नवंबर को अपनी रिपोर्ट दाखिल करने को कहा गया है।

UP Police: बीएसपी विधायक के सरकारी गनर राम प्रकाश मिश्र की मौत, सजेती थाना क्षेत्र के दौलतपुर गांव के पास उनके काफिले में शामिल टाटा सफारी कार अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई थी..

कानपुर।। डेरापुर से बहुजन समाज पार्टी के विधायक के काफिले की एक कार अचानक पलट गई जिससे उसमें सवार सरकारी गनर की मौत हो गई। घटना में विधायक के भाई समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए लेकिन दूसरी कार में सवार विधायक सुरक्षित हैं। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि डेरापुर से बीएसपी विधायक महेश त्रिवेदी मंगलवार देर रात किसी रिश्तेदार के यहां आयोजित निजी कार्यक्रम से लौट रहे थे। सजेती थाना क्षेत्र के दौलतपुर गांव के पास उनके काफिले में शामिल टाटा सफारी कार अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई। अंधेरा होने के कारण वहां अफरातफरी फैल गई।
घटना के तुरंत बाद विधायक ने पुलिस को सूचित किया जिसके बाद कार में फंसे लोगो को बाहर निकाला गया। दुर्घटना में विधायक के सरकारी गनर राम प्रकाश मिश्र (50) बुरी तरह से घायल हो गए । उन्होंने अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में दम तोड़ दिया। इसमें विधायक के भाई संजय त्रिवेदी, ड्राइवर रईस अहमद, नीरज पांडे और बबलू समेत सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी ही हालत चिंताजनक बताई जा रही है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।